• October 6, 2022 3:10 am

300 करोड़ रुपये से बनेंगी झारखंड की सड़कें और एक ब्रिज-केन्द्र सरकार ने दी मंजूरी

By

Apr 5, 2021
300 करोड़ रुपये से बनेंगी झारखंड की सड़कें और एक ब्रिज-केन्द्र सरकार ने दी मंजूरी
Share More

केंद्र सरकार ने झारखंड में ब्रिज और सड़क निर्माण के लिए 300 करोड़ रुपये को मंजूरी दे दी है। पथ निर्माण विभाग के सचिव सुनील कुमार के अनुसार राज्य सरकार की ओर से पहले ही सेंट्रल रोड फंड के तहत बनने के लिए 391.75 करोड़ की लागत से बनने वाली चार सड़कों और एक ब्रिज का प्रस्ताव भेजा जा चुका है। सचिव ने कहा कि केंद्रीय सड़क, परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय की ओर से बजट मंजूर किए जाने के बाद प्रस्तावित सड़कों और ब्रिज के निर्माण की दिशा में जल्द आगे की कार्रवाई शुरू की जाएगी।

उन्होंने कहा कि इन सड़कों के बनने से आवागमन सुगम होगा। ग्रामीण क्षेत्रों में आर्थिक सहित अन्य तरह की गतिविधियां तीव्र हो सकेंगी। उल्लेखनीय है कि केंद्र सरकार पेट्रोल, डीजल पर जो सेस लेती है उसी के अनुपात में इंफ्रास्ट्रक्चर के निर्माण के लिए फंड देती है। स्टेट हाइवे, राष्ट्रीय राजमार्गों, मुख्य जिला सड़कों के निर्माण के लिए सेंट्रल रोड फंड से राशि मिलती है। इस राशि से ग्रामीण सड़कें नहीं बनती। ग्रामीण सड़कों के लिए केंद्र सरकार पीएमजीएसवाई योजना के तहत फंड उपलब्ध कराती है।

राज्य में वर्तमान में सड़कों की स्थिति
16026 किमी है झारखंड में पथ निर्माण विभाग और एनएचएआई की सड़कों की कुल लंबाई
12736 किलोमीटर सड़क पथ निर्माण विभाग की है
3290 किलोमीटर है राष्ट्रीय राजमार्ग झारखंड में
159.6 किलोमीटर प्रति हजार किलोमीटर झारखंड का रोड औसत
385 किलोमीटर प्रति हजार किलोमीटर राष्ट्रीय रोड औसत है

केंद्र सरकार को प्रस्तावित चार सड़कें और ब्रिज
धुवारी-रोल रोड (एमडीआर-099) को दो लेन पेव शेल्डर के साथ मजबूतीकरण और चौड़ीकरण किया जाएगा। 25.92 किमी। लागत 91 करोड़।
सिमरा-बोवारीजोर-बोरियो रोड का पेव शोल्डर के साथ दो लेन चौड़ीकरण और सुढृढ़ीकरण। (एमडीआर-208) 25.80 किमी। लागत 129 करोड़।
माझाटोली-रैडीह-चैनपुर टू लेन सड़क का चौड़ीकरण और सुढृढ़ीकरण। (एमडीआर-035) 30.50 किमी। लागत 106.75 करोड़।
चैनपुर से महुआदांड़ रोड होते डुमरी तक मजबूतीकरण और चौड़ीकरण। (एमडीआर-036) 14 किमी। लागत 49 करोड़।
दुमका-साहिबगंज लिंक रोड के अमरापाड़ा बाजार सड़क पर बसलोई नदी के ऊपर ब्रिज का निर्माण। 153 मीटर लंबाई, अनुमानित लागत 16 करोड़।

नक्सल प्रभावित इलाकों में 760 में 719 किमी सड़क तैयार, 41 किमी
सूबे के नक्सल प्रभावित विभिन्न जिलों में बेहतर रोड नेटवर्क के लिए 760 किलोमीटर सड़क बनाई जा रही है। अब तक 719 किमी सड़क तैयार हो चुकी है। शेष 41 किमी सड़क का काम प्रगति पर है। इस पर 1230.11 करोड़ रुपये खर्च किए जा रहे हैं। चाईबासा में 134 किलोमीटर सड़क बनी है। रांची में 72 करोड़ की लागत से काम हो रहा है। हजारीबाग में 141 किमी सड़क बनी है। मेदनीनगर में 230 किमी सड़क तैयार कर ली गई है। इसी प्रकार गढ़वा में 50, डाल्टनगंज में 25, गुमला में 49, जमशेदपुर में 28, चतरा 22, लोहरदगा 32, लातेहार में 61 किलोमीटर सड़क बनाई गई है।


Share More

Leave a Reply

Your email address will not be published.