मछली पालन प्रोजेक्टों पर मिलेगी 40 से 60 फीसद सब्सिडी
पंजाब

मछली पालन प्रोजेक्टों पर मिलेगी 40 से 60 फीसद सब्सिडी

फिरोजपुर : जिले के कई किसान मछली पालन के धंधे को अपनाकर बढि़या कमाई कर रहे हैं। एडीसी (जन) राजदीप कौर ने बताया कि नीली क्रांति के अंतर्गत लाई गई प्रधानमंत्री मतस्या संपदा योजना के अंतर्गत मछली पालन का धंधा करने वालों के लिए सरकार की तरफ से यूनिट कास्ट की जनरल कैटागरी को 40 प्रतिशत और एससी /एसटी /औरतें को 60 प्रतिशत सब्सिडी दी जाती है। इसके साथ ही मछली पालन का धंधा शुरू करने जा रहे व्यक्तियों को विभाग की तरफ से पांच दिवसीय मुफ्त प्रशिक्षण भी दिया जाता है।

एडीसी ने बताया कि यह मछली पालन का धंधा कुदरती आफतों जैसे कि बेमौसमी बरसात, औलावृष्टि की मार आदि से रहित है और मछली की फसल एक ऐसी फसल है जिसको जब चाहे बेचकर पैसे कमाए जा सकते हैं। मछली की डिलवरी और सेल के लिए विभाग से कम दरों पर साइकिल और मोटर साइकिल तथा थ्रीव्हीलर आदि समेत आइस बाक्स भी मुहैया करवाए जाते हैं। लोगों को अधिक से अधिक इस धंधे की तरफ उत्साहित करने के लिए जल्द ही जागरूकता कैंप भी लगाए जाएंगे।

उन्होंने जिले के किसानों और नौजवानों से अपील की कि मछली पालन के धंधे के लिए सरकार की तरफ से दिए जाते लाभ जरूर लें और अपनी आमदन में विस्तार करने के लिए मछली पालन का पेशा जरूर अपनाएं। उन्होंने बताया कि ज्यादा जानकारी के लिए दफ्तर सरकारी मछली पूंग फार्म, मल्लवाल, नजदीक सर्कट हाऊस, फिरोजपुर में संपर्क किया जा सकता है।

चुनाव आयोग ने शुरू की ई-एपिक कार्ड की सुविधा संवाद सहयोगी, फिरोजपुर : भारत चुनाव आयोग की हिदायतोंनुसार नए वोटरों को वोट से संबंधित सेवा लेने की प्रणाली को डिजिटल रूप देते ई -एपिक कार्ड की सुविधा मुहैया करवाई गई है। चुनाव तहसीलदार इंद्रजीत ने बताया कि वोटर, ई -एपिक को अपने मोबाइल फोन में डाउनलोड कर सकते हैं।

उन्होंने बताया कि वोटर इस डिजिटल कार्ड का प्रिट भी निकलवा सकता है। आम लोगों की सुविधा के लिए ई -एपिक डाउनलोड करवाने के लिए छह व सात मार्च को बूथ स्तर अफसर की ओर से पोलिग स्टेशनों पर विशेष कैंप लगाए जा रहे हैं। इन कैंपों के दौरान समूह बीएलओज अपने -अपने पोलिग स्टेशनों पर बैठ कर नए रजिस्टर्ड हुए वोटरों के वोटर कार्ड डाउनलोड करवाएंगे। उन्होंने समूह नये बने वोटरों से अपील की कि यदि उन्होंने अभी तक अपना ई -एपिक डाउनलोड नहीं किया तो वह छह व सात मार्च को संबंधित बीएलओ से अपना ई -एपिक डाउनलोड करवा लें। इसके अलावा किसी भी किस्म की जानकारी लेने के लिए टोल फ्री नंबर 1950 पर संपर्क किया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *