अस्ताचल गामी भगवान भास्कर को घर से लेकर घाट तक दिया अर्घ्य
छत्तीसगढ़

अस्ताचल गामी भगवान भास्कर को घर से लेकर घाट तक दिया अर्घ्य

भिलाई। ट्विनसिटी में छठ के चार दिवसीय महापर्व के तीसरे दिन महिलाओं ने अस्ताचल गामी भगवान भास्कर को अर्घ्य देकर एक दूसरे को सिंदूर लगाकर अखंड सौभाग्य की कामना की।

भगवान सूर्य की उपासना के साथ शुक्रवार को छठ पर्व की रौनक दोपहर बाद से लेकर देर शाम तक ट्विनसिटी में देखने को मिली। बता दें कि लोक आस्था के पर्व पर तालाब में वेदी बनाकर पूजन और अनुष्ठान का दौर शुरू हुआ, अस्ताचल गामी भगवान भास्कर को जल और दूध से अभिषेक कर आशीर्वाद लिया। व्रतियों ने सूर्य देव को नमन कर व्रत की परंपराओं का निर्वहन किया। इस दौरान भिलाई के सेक्टर-2 तालाब, बैकुंठधाम तालाब, सेक्टर-7 तालाब, भिलाई तीन, चरोदा के साथ खारुन नदी तट के विभिन्न घाटों पर शुक्रवार को व्रती महिलाओं ने विधि विधान से छठी मइया का पूजन किया। घर पर कुंड बनाकर महिलाओं ने की पूजा

कोरोना संक्रमण को देखते हुए सेक्टर-दो सड़क 24 निवासी लालमन यादव और अरविंद पंडितपुरी ने एक साथ छोटा कुंड बनाकर छठ पूजा की। पूजा के दौरान लालमन यादव ने बताया कि तालाब पर भीड़ है, इसके चलते हम लोग इस बार अपने ही घर छोटा सा कुंड बनाकर पूजन कर रहे हैं, जिससे किसी भी प्रकार का संक्रमण फैलने का खतरा ना हो।

इस बार तालाबों पर भीड़ रही कम

सेक्टर-2 और बैकुंठधाम तालाब पर पिछले साल काफी भीड़ थी, लेकिन इस बार कोरोना संक्रमण के चलते एवं शासन की जारी गाइड लाइन का पालन करते हुए लोग स्वयं भीड़ का हिस्सा नहीं बने। हालांकि पुलिस भी भीड़ कम करने के लिए समझाइश देती रही। इस दौरान तालाब जाने से पहले ही बैरिकेड्स लगाकर वाहनों को रोककर पूछताछ कर लोगों को घाट के तरफ जाने दिया जा रहा था।

दोपहर से घाटों पर घेरी जगह

छठ पर्व पर बेदी के साथ ही घाटों पर जगह रोकने लोगों में उत्साह देखा गया कुछ लोग दोपहर से ही तालाब के किनारे स्थान पाने के लिए वेदी बनाते दिखे। वहीं कुछ श्रद्घालु जगह रोकने चादर बिछाकर शाम होने का इंतजार करते रहे। यह नजारा सेक्टर-दो तालाब परिसर में शुक्रवार को एक बजे से देखने को मिला।

घर से घाट तक आस्था के गीत

व्रती महिलाएं घर से हाथ में कलश लेकर घाट पर पहुंची। इस दौरान रास्तेभर छठी मइया की महिमा का बखान करने वाली गीत गाती रहीं। कांच ही बांस की बहंगिया बहंगी लचकत जाए…., छठी माई के पावन व्रतियां व्रत हम करत हम जरूर…,आजव के दिनवां हो दीनानाथ, लागत एतना देर…, छठी मइया के दिहल ललनवां…, आदि गीतों को गाती हुई व्रती महिलाएं चल रही थी। वहीं परिजन भी गीत गाते रहे। महिलाएं अपने हाथ में सुपा और परिजन दौरा और गन्ना लेकर चल रहे थे।

एलईडी स्क्रीन पर दिखा नजारा

सेक्टर-दो तालाब परिसर में भक्तों एवं श्रद्धालुओं पर नजर रखने के लिए घाट पर एलईडी स्क्रीन लगाई गई थी। अर्घ्य देने के दौरान सारी गतिविधियां स्क्रीन पर दिखाई जा रही थी। इस दौरान छठ पूजा की गीत के साथ लाइव प्रसारण भी हो रहा था। वहीं पुलिस कर्मी भी सड़क से लेकर घाटों पर डटे रहे, जिसके चलते एक स्थान पर भीड़ नहीं हो सकी।

घाटों पर हाथ जोड़े नजर आए नेताजी

कई स्थानों पर तालाब के चारों ओर जनप्रतिनिधियों के शुभकामनाओं वाले बैनर पोस्टर लगे थे। सड़क से लेकर तालाब तक नेताओं के पोस्टर समर्थकों ने लगा रखा था। मुख्यमंत्री, विधायक, पार्षद के साथ कार्यकर्ता भी अपने पोस्टर लगाने से नहीं चुके। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, विधायक देवेंद्र यादव, पार्षद जी श्रीनिवास राव, मनीष पांडेय समेत अनेक भाजपा-कांगे्रस के पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं की हाथ जोड़े बैनर लगे थे।

डूबते हुए सूर्य को व्रतियों ने दिया अर्घ्य

कुम्हारी। कुम्हारी में छठ महापर्व के तीसरे दिन शुक्रवार की शाम भगवान भाष्कर को व्रतियों ने अर्घ्य दिया। इस अवसर पर विभिन्न तालाबों पर व्रतियों ने पहुंचकर विविध विधान से पूजन किया। कुम्हारी में निवासरत बिहार, झारखंड और पूर्वी उत्तर प्रदेश मूल के निवासी अपने पारंपरिक छठ पर्व को पूरी श्रद्धा के साथ मनाया। इन परिवारों ने कुम्हारी बस्ती के बड़े तालाब, डीएमसी तालाब, जंजगिरी तालाब एवं कुगदा तालाब में डूबते हुए सूर्यदेव को अर्घ्य देकर घर परिवार के साथ ही कोरोना से मुक्ति की कामना की।

विधायक और महापौर ने घाट पहुंचकर छठ पर्व की दी बधाई

छठ पूजा के अवसर पर दुर्ग के ठगड़ा बांध में बड़ी संख्या में लोगों ने सूर्य को अर्घ्य देकर अराधना और पूजा अर्चना की। ठगड़ा बांध, रेवा तालाब, शीतला तालाब कातुलबोर्ड, पुजेरी तालाब पहुंचकर शहर विधायक अरुण वोरा व महापौर धीरज बाकलीवाल ने छठ पूजा स्थल पर छठ मइया से आशीर्वाद लिया। उन्होंने उपस्थित महिलाओं, पुरुषों और बच्चों से मुलाकात कर छठ पर्व की बधाई और शुभकामनाएं दी। विधायक, महापौर ने पार्षद शिवेंद्र परिहार, अरुण सिंह, मीना सिंह तथा कमला शर्मा से भी मुलाकात की। इस दौरान महापौर धीरज बाकलीवाल ने लोगों से कहा कि कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए शारीरिक दूरी बनाए रखें तथा पूजा स्थल में आने वाले लोगों को मास्क पहनाएं और सैनिटाइज भी करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *