जिसके पास लाइसेंस उसके नाम वाहन
लेख

जिसके पास लाइसेंस उसके नाम वाहन

जिसके पास लाइसेंस उसके नाम वाहन केंद्र सरकार ने मोटर वाहन अधिनियम लागू क्या किया देश में गजब की हलचल मच गई। इसमें यातायात सुरक्षा के साथ-साथ यातायात स्वच्छता और स्वस्थता दिखाई पड़ी। कानून के मुताबिक नियम, कायदों को तोड़ने पर सक्त कार्रवाई और भारी जुर्माने का कड़ा प्रावधान है।  यह पहले भी कम सीमा […]

'हम' बदलेंगे, तभी बदल सकेगा देश
लेख

‘हम’ बदलेंगे, तभी बदल सकेगा देश

‘हम’ बदलेंगे, तभी बदल सकेगा देश हाल के दिनों में नया मोटर वाहन अधिनियम 2019 सार्वजनिक विमर्श में है। इस पर दो स्वर हैं। पहला, राजनीतिक, वैचारिक और व्यक्तिगत कारणों से इसके विरोध से संबंधित है। दूसरा, अधिनियम के पूर्ण समर्थन या फिर अधिनियम को आवश्यक मानते हुए भी कठोर प्रावधानों में संशोधन की मांग से […]

6 सितम्बर श्री महर्षि दधीचि जयंती विशेष....लेख
लेख

6 सितम्बर श्री महर्षि दधीचि जयंती विशेष….लेख

6 सितम्बर श्री महर्षि दधीचि जयंती विशेष….लेख जय दधीचि ,  भारतीय संस्कृति उत्सवों और महोत्सवों की संस्कृति है। पुनीत पावन  पूजनीय यह भारत की भूमि है। ये अवतारों की भूमि है ये भूमि संस्कारो की भूमि है, सारी देव सत्ता अनेकों रूपो में यहा पर  विद्यमान है  भारत भूमि पर जन्म लेना ही इस बात […]

ज्योतिषी को आफिस के इशान कोण में बैठने से ज्यादा अंतर्ज्ञान होगा
लेख

ज्योतिषी को आफिस के इशान कोण में बैठने से ज्यादा अंतर्ज्ञान होगा

ज्योतिषी को आफिस के इशान कोण में बैठने से ज्यादा अंतर्ज्ञान होगा **ज्योतिषी के लिए इशान कोण अत्यंत लाभदायक कोना होता है ,इस कोण में लगातार बैठने या सोने से पूर्वाभास होता है ,इसलिए इस कोण का अधिक से अधिक उपयोग करना चाहिए **वास्तुशास्त्री के लिए वायव्य कोण ज्यादा लाभदायक देखा गया है क्योंकि वायव्य […]

अग्नि कोण के दक्षिण दीवाल पर एक लाल रंग का बल्ब हमेशा जलाकर रखें
लेख

अग्नि कोण के दक्षिण दीवाल पर एक लाल रंग का बल्ब हमेशा जलाकर रखें

अग्नि कोण के दक्षिण दीवाल पर एक लाल रंग का बल्ब हमेशा जलाकर रखें > फैशन डिजाईन का कार्य करने वालों को अपने आफिस या दुकान के अग्नि कोण [ दक्षिण-पूर्व ] को विकसित करना चाहिए > अग्नि कोण [ दक्षिण-पूर्व ] को विकसित करने के लिए अग्नि कोण के दक्षिण दीवाल पर एक लाल […]

अगर आपके भवन में नैऋत्य कोण
लेख

अगर आपके भवन में नैऋत्य कोण

अगर आपके भवन में नैऋत्य कोण अगर आपके भवन में नैऋत्य कोण ( दक्षिण पश्चिम ) का हिस्सा में निर्माण कार्य नही हुवा है तो उस हिस्से में गोवर्धन पर्वत का चित्र लगाए   Pt Deonarayan Sharma Vastu Shastri +91 94252 07282

घर ,आफिस ,दुकान या फेक्टरी के अंदर लड़ाई-झगडे से सम्बन्धित कोई भी फोटो नही लगानी चाहिए
लेख

घर ,आफिस ,दुकान या फेक्टरी के अंदर लड़ाई-झगडे से सम्बन्धित कोई भी फोटो नही लगानी चाहिए

घर ,आफिस ,दुकान या फेक्टरी के अंदर लड़ाई-झगडे से सम्बन्धित कोई भी फोटो नही लगानी चाहिए **घर ,आफिस ,दुकान या फेक्टरी के अंदर लड़ाई-झगडे से सम्बन्धित कोई भी फोटो नही लगानी चाहिए **हमारे मन की स्थिति बड़ी कोमल होती है वः जिस चीज को बार बार देखता है उसी का अभ्यास करने लगता है **अगर […]

अलग अलग कार्य की उर्जा को विकसित करने के लिए अलग अलग तत्व
लेख

वास्तु शास्त्र के अनुसार गऊशाला वायव्य कोण में बनाएं

वास्तु शास्त्र के अनुसार गऊशाला वायव्य कोण में बनाएं वारुण्याम् भोजनगृहम् वायव्यम् पशुमन्दिरम् भंडारम् वेश्मोत्तरस्याम् ऐशान्याम् देवतालयम् **घर में गाय को रखने के लिए वायव्य [उत्तर -पश्चिम] कोण में गऊशाला बनायें **सनातन धर्म के अनुसार गाय के अंदर ३३ करोड़ देवी देवताओं का निवास माना जाता है **इसलिए भारत में सदियों से घर में गाय […]

अलग अलग कार्य की उर्जा को विकसित करने के लिए अलग अलग तत्व
लेख

अलग अलग कार्य की उर्जा को विकसित करने के लिए अलग अलग तत्व

अलग अलग कार्य की उर्जा को विकसित करने के लिए अलग अलग तत्व > अलग अलग कार्य की उर्जा को विकसित करने के लिए अलग अलग तत्व और अलग अलग सजावटी वस्तुये या पेंटिंग प्रयोग में लायी जाती है > कम्पुटर के कार्य करने वालों को अपने आफिस के आग्नेय कोण में कम्पुटर का पूरा […]

"एक भारत विजय भारत" पर व्याख्यान
लेख

“एक भारत विजय भारत” पर व्याख्यान

“एक भारत विजय भारत” पर व्याख्यान विवेकानंद केंद्र रायपुर शाखा रायपुर, 14/08/2019। विवेकानंद केंद्र कन्याकुमारी एवं विवेकानंद विद्यापीठ कोटा रायपुर के संयुक्त तत्वावधान में कन्याकुमारी स्थित विवेकानंद शिला स्मारक के 50 वें वर्ष के उपलक्ष में आयोजित व्याख्यान में डॉक्टर ओम प्रकाश वर्मा ने कहा भारत का प्राण 5000 वर्ष पहले भी धर्म था, आज भी […]

कुछ भूखंड उत्तर ,दक्षिण होते है लेकिन बनाते समय भवन को विदिशा बना देते हैं
लेख

कुछ भूखंड उत्तर ,दक्षिण होते है लेकिन बनाते समय भवन को विदिशा बना देते हैं

कुछ भूखंड उत्तर ,दक्षिण होते है लेकिन बनाते समय भवन को विदिशा बना देते हैं   Pt Deonarayan Sharma वास्तु सलाहकार +91 9425207282

अलग अलग कार्य की उर्जा को विकसित करने के लिए अलग अलग तत्व
लेख

अलग अलग कार्य की उर्जा को विकसित करने के लिए अलग अलग तत्व

अलग अलग कार्य की उर्जा को विकसित करने के लिए अलग अलग तत्व 1) अलग अलग कार्य की उर्जा को विकसित करने के लिए अलग अलग तत्व और अलग अलग सजावटी वस्तुये या पेंटिंग प्रयोग में लायी जाती है 2) लकड़ी से बनी हुयी भवन को घर या आफिस के दक्षिण दिशा में लगाने से […]

लेख

वास्तु शास्त्र के अनुसार अलग अलग व्यापार व्यवसाय में सफलता प्राप्त करने के लिए वास्तु शास्त्र में कुछ वस्तुएं लगाने का विधान है

वास्तु शास्त्र के अनुसार अलग अलग व्यापार व्यवसाय में सफलता प्राप्त करने के लिए वास्तु शास्त्र में कुछ वस्तुएं लगाने का विधान है कुछ पेंटिंग लगाने मात्र से ही कोई तत्व को विकसित किया जा सकता है । जैसे एक्यूप्रेशर और एक्यूपंक्चर के द्वारा हथेली के हिस्से को दबाने से शरीर के विभिन्न अंगों का […]

वास्तु पुरुष जो कि प्रत्येक भूखण्ड में ईशान में सिर रखकर सोये रहते हैं
लेख

वास्तु पुरुष जो कि प्रत्येक भूखण्ड में ईशान में सिर रखकर सोये रहते हैं

वास्तु पुरुष जो कि प्रत्येक भूखण्ड में ईशान में सिर रखकर सोये रहते हैं > जिनको दिशा समझने में दिक्कत हो रही हो उनके लिए यह उपयुक्त होगा । सभी दिशा और उप दिशा > इसमें आपको हिंदी और इंग्लिश में सभी दिशा स्पष्ट मिलेगी > सभी दिशाओं के स्वामी ग्रह के नाम दिए गये […]

वास्तु शास्त्र के अनुसार खाना खाते समय हमारा मुंह सकारात्मक दिशा में होनी चाहिए
लेख

वास्तु शास्त्र के अनुसार खाना खाते समय हमारा मुंह सकारात्मक दिशा में होनी चाहिए

वास्तु शास्त्र के अनुसार खाना खाते समय हमारा मुंह सकारात्मक दिशा में होनी चाहिए *वास्तु शास्त्र के अनुसार खाना खाते समय हमारा मुंह हमेशा उत्तर या पूर्व दिशा में होनी चाहिए *इसलिए डायनिंग टेबल को हमेशा उत्तर या पूर्व की दीवाल से लगाकर रखना चाहिए *घर के सदस्यों को हमेशा उत्तर या पूर्व की ओर […]

अलग अलग कार्य की उर्जा को विकसित करने के लिए अलग अलग तत्व
लेख

मिटटी के बहुरंगी बर्तनों से घर में प्यार की उर्जा को बढ़ाएं

मिटटी के बहुरंगी बर्तनों से घर में प्यार की उर्जा को बढ़ाएं **वास्तु शास्त्र के अनुसार ब्रम्हांड में रखी हुयी प्रत्येक वास्तु से कोई न कोई उर्जा विकरित [निकलती] होती रहती है ,इसलिए घर में सामान रखते समय अत्यंत सावधानी रखनी चाहिए **पत्थर का छोटा सा टुकड़ा भी अपने अंदर से कोई न कोई उर्जा […]

अलग अलग कार्य की उर्जा को विकसित करने के लिए अलग अलग तत्व
लेख

वास्तु दोष निराकरण के लिए तुलसी का प्रयोग

वास्तु दोष निराकरण के लिए तुलसी का प्रयोग **वास्तु शास्त्र में अनेक इसे नियम हैं जिसका पालन फ्लेट या सरकारी निवास में नही हो पता ,पुराने निर्माण कार्यों में भी कुछ निर्माण कार्य इसे होते हैं जिनकों सुधर पाना करीब करीब असम्भव सा हो जाता है । **वास्तु दोष से युक्त निर्माण कार्य नकारात्मक उर्जा […]

अलग अलग कार्य की उर्जा को विकसित करने के लिए अलग अलग तत्व
लेख

वास्तु शास्त्र के अनुसार घर में केक्टस का पेड़ न लगायें

वास्तु शास्त्र के अनुसार घर में केक्टस का पेड़ न लगायें **वास्तु शास्त्र के अनुसार घर ,दुकान ,फेक्टरी या व्यवसायिक परिसरों में केक्टस का पेड़ लगाने से मना किया जाता है **केक्टस में कांटे होते हैं और कांटे वाले कोई भी पौधे घर के आसपास में नही होना चाहिए **जिस घर में कांटे होंगे वहाँ […]

अलग अलग कार्य की उर्जा को विकसित करने के लिए अलग अलग तत्व
लेख

वास्तुशास्त्र के अनुसार भूमि का चयन

वास्तुशास्त्र के अनुसार भूमि का चयन **वास्तुशास्त्र के प्राचीन शास्त्रों में उल्लेख किया गया है कि भवन निर्माण के लिए भूमि का चयन करते समय मिट्टी के स्वरूप ,रंग ,गंध ,ढलान की परख अवश्य की जाए। **वास्तु शास्त्र में मिट्टी को उसके रंग, स्वाद और महक के आधार पर चार श्रेणियों में बांटा गया है- […]

अलग अलग कार्य की उर्जा को विकसित करने के लिए अलग अलग तत्व
लेख

वायव्य कोण (उत्तर पश्चिम) के गुण और दोष

वायव्य कोण (उत्तर पश्चिम) के गुण और दोष मित्रता और शत्रुता ▶अगर आपके मित्र आपके शत्रु बन गए है ▶और आप उन्हें फिर से मित्र बनाना चाहते है ▶अगर आपके मित्रों की संख्या कम है ▶तो वायव्य कोण को विकसित करे ▶क्योंकि वायव्य कोण से शत्रुता या मित्रता देखा जाता है ▶इस कोण को विकसित […]