जयुपर | 31 जुलाई 2021 | मंत्रिमंडल में फेरबदल से पहले कांग्रेस हाईकमान ने गहलोत सरकार से कांग्रेस घोषणा पत्र में किए वादों को पूरा करने का हिसाब मांगा है। छत्तीसगढ़ के गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू और सांसद अमर सिंह गहलोत मंत्रिपरिषद के साथ बैठक करके घोषणा पत्र पर अब तक हुए काम का रिव्यू कर रहे हैं। सीएम निवास पर घोषणा पत्र क्रियान्यवन समिति की बैठक चल रही है। ताम्रध्वज साहू की अध्यक्षता वाली कमेटी की यह दूसरी बैठक है। पिछले साल 25 सितंबर को इस कमेटी की बैठक हुई थी।

ताम्रध्वज साहू ने जयुपर पहुंचने के बाद मीडिया से बातचीत में कहा कि सोनिया गांधी के आदेश पर आज दोबारा घोषणा पत्र कमेटी की बैठक लेने आया हूं। राजस्थान सरकार ने कांग्रेस घोषणा पत्र पर कितना काम किया है, इसका रिव्यू करेंगे। रिव्यू के बाद आलाकमान को रिपोर्ट देंगे।

अजय माकन के फीडबैक के पहले दिन ही 28 जुलाई को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सभी ​मंत्रियों और विभागों के प्रमुख अफसरों के साथ बैठक करके अब तक घोषणाओं पर हुए काम का रिव्यू ​किया था। कल सभी मंत्री अपने-अपने विभाग में बैठकें करके तैयारियों में लगे थे। घोषणा पत्र क्रियान्वयन समिति का गठन सोनिया गांधी ने पिछले साल जनवरी में किया था।

गहलोत सरकार का दावा- 64 फीसदी घोषणाओं पर काम पूरा

गहलोत सरकार ने ढाई साल में कांग्रेस घोषणा पत्र में जनता से किए वादों में 64 फीसदी पर काम पूरा करने का दावा किया है। दावे के मुताबिक 28 फीसदी घोषणाओं पर काम प्रगति पर है, जबकि 8 फीसदी घोषणाओं पर काम बाकी है।

मंत्रिमंडल में फेरबदल से पहले कांग्रेस हाईकमान के दबाव के साथ ही घोषणा पत्र को लेकर सजग हुए गहलोत के मंत्रियों ने अपने-अपने विभागों की बजट घोषणाओं के काम की समीक्षा की है। गहलोत सरकार ने अब तक 64 फीसदी घोषणाएं पूरा करने और 28 फीसदी पर काम प्रगति पर होने का दावा किया।

कांग्रेस का घोषणा पत्र सरकारी दस्तावेज, पहली कैबिनेट में इसे नीतिगत दस्तावेज का दर्जा

कांग्रेस सरकार बनते ही गहलोत ने पहली कैबिनेट बैठक में दिसंबर 2018 में इसे सरकारी नीतिगत दस्तावेज का दर्जा दिया था। इसमें की कई घोषणाओं को पूरा करना अब सरकार के लिए जरूरी है।

गहलोत का ट्वीट- हम घोषणा पत्र के अधिकांश वादों को पूरा करने की ओर बढ़ रहे

सीएम गहलोत ने बैठक से पहले ट्वीट किया- कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी द्वारा गठित घोषणा पत्र समिति के चेयरमैन ताम्रध्वज साहू और सांसद अमर सिंह जयपुर आकर घोषणा पत्र क्रियान्वयन की दूसरी समीक्षा बैठक करेंगे। पिछले वर्ष 25 सितंबर को भी घोषणा पत्र क्रियान्वयन की समीक्षा बैठक हुई थी। हमारी सरकार ने पहले की तरह चुनावी घोषणा पत्र को नीतिगत दस्तावेज बनाकर काम किया है। मुझे खुशी है कि हम घोषणा पत्र के अधिकांश वादों को पूरा करने की ओर अग्रसर हैं।

डोटासरा बोले- पहली बार किसी ने चुनाव घोषणा पत्र का हिसाब दिया

कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा, पहली बार किसी सरकार ने चुनाव घोषणा पत्र में किए वादों का हिसाब​ दिया है। 52 फीसदी वादे तो हमने दो साल से कम में ही पूरे कर दिए थे। डेढ़ साल हमने कोरोना का भी सामना किया है, फिर भी हम घोषणा पत्र के वादों को पूरा करने की दिशा में तेजी से बढ़ रहे हैं।

Source;- “दैनिक भास्कर”     

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *