मुख्यमंत्री ने की गौठान के काम-काज की सराहना
छत्तीसगढ़

मुख्यमंत्री ने की गौठान के काम-काज की सराहना

पुरैना खपरी की महिलाओं, चरवाहों और गौपालकों से की चर्चाएक हजार से ज्यादा गौपालकों के खातों में 4.50 लाख रूपये जमाहर माह की 5 और 20 तारीख को होगा भुगतान

बलौदाबाजार | मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने बलौदाबाजार विकासखण्ड के ग्राम पुरैना खपरी स्थित गौठान के काम-काज की सराहना की है। उन्होंने इस गौठान के गतिविधियों को राज्य के अन्य गौठानों के लिए आदर्श एवं अनुकरणीय बताया है। श्री बघेल आज वीडियो काॅन्फ्रेंसिग के जरिये पुरैना खपरी के गौठान संचालन समिति, महिला समूहों और चरवाहों से चर्चा करते हुये उनका काम-काज जाना। श्री बघेल ने रायपुर स्थित मुख्यमंत्री निवास कार्यालय में कम्प्यूटर का क्लिक दबाकर गोधन न्याय योजना के अंतर्गत राशि का अंतरण किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि गोबर खरीदी का भुगतान अब हर महीने की 5 और 20 तारीख को किया जायेगा। बलौदाबाजार जिले के 1 हजार 108 गौपालकों के खातों में 4 लाख 49 हजार रूपये की राशि तत्कालजमा हो गई। पिछले 15 दिवस का भुगतान पाकर हितग्राहियों की खुशी का ठिकाना नहीं रहा और वे इसके लिए मुख्यमंत्री श्री बघेल को बधाई दिये हैं।       
मुख्यमंत्री श्री बघेल के गोधन न्याय योजना के राशि अंतरण के शुभारंभ कार्यक्रम सुनने के लिए पुरैना खपरी गौठान में जिला प्रशासन द्वारा विशेष इंतजाम किया गया था। मुख्यमंत्री ने विशेष रूचि लेकर गौठान के  गतिविधियों की जानकारी ली। उन्होंने राज्य के अन्य गौठानों से ज्यादा और लगभग 15 मिनट तक गौठान समिति के सदस्यों और महिलाओं से उत्सुकता पूर्वक चर्चा किया। गौठान समिति के अध्यक्ष श्री ओम्प्रकाश साहू ने मुख्यमंत्री को बताया कि गौठान में कुल 103 गौपालक पंजीकृत हैं, जिनमें से 62 गौपालकों ने 31 जुलाई तक 12 क्विंटल 28 किलो गोबर बेचा है। जय मां लक्ष्मी महिला समूह की अध्यक्ष श्रीमती सुनीता साहू ने बताया कि हमारे गौठान में एक साल पहले से वर्मी खाद तैयार किये जा रहे हैं। हमने 10रूपये किलोग्राम के भाव से बेच भी रहे हैं। करीबन 3 क्विंटल तक खाद की बिक्री कर चुके हैं। गौठान में हम लोगों ने नाना प्रकार के साग-सब्जी भी उगाये हैं। इसके अलावा अन्य महिलाओं को साथ लेकर मुर्गीपालन एव मछलीपालन का काम भी शुरू किये हैं। पशु चिकित्सा विभाग द्वारा हमें 200 नग चूजे दिये गये थे। चार महीने पहले विभाग द्वारा दिया गया था, जिसे हमने पाल पोसकर बड़ा किया और बेच दिया। इससे हमारी समूह को 30 हजार रूपये की आमदनी हुई है। महिलाओं ने मुख्यमंत्री जी को बताया कि विगत दिनों साबुन, अगरबत्ती और डिटरजेन्ट पाउडर बनाने का प्रशिक्षण ले चुके हैं। इस काम को आगे बढाने की इच्छा है। मुख्यमंत्री ने महिलाओं की काम के प्रति लगन और उत्साह की प्रशंसा करते हुये प्रशासन से हर तरह के सहयोग का भरोसा दिलाया। इस अवसर पर गौठान के नोडल अफसर एवं संयुक्त कलेक्टर श्री अरविन्द पाण्डेय, अतिरिक्त जिला पंचायत सीईओ श्री एच.एस.चैहान, सरपंच श्रीमती संतोषी धु्रव, डीआईओ एस.एन.प्रधान, ईडीएम संदीप साहू सहित ग्रामीण किसान एवं पशुपालक उपस्थित थे।मुख्यमंत्री ने जब करेला खरीदने दिया आर्डरमुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने पुरैना खपरी की महिलाओं से चर्चा करते हुये जब यह जाना कि गौठान में करेला की सब्जी तैयार हो गई है तो तपाक से कहा कि तीजा आने वाला है। करू भात के रूप में इसका इस्तेमाल करेंगे। उन्होंने मुख्यमंत्री निवास सहित मंत्रिमण्डल के सभी सदस्यों के लिये करेला का आर्डर भी दे डाला। महिला समूह की अध्यक्ष श्रीमती सुनीता साहू ने बताया कि राज्य सरकार के सहयोग से हमने बड़े मनायोग से बाड़ी का भी जतन किया है। गौठान के एक किनारे में हमने करेला के अलावा जिमी कंद, तोरई, कोंचाई, हल्दी आदि उपयोगी पौधे लगाये हैं। इससे पौष्टिक आहार मिलने के साथ ही अतिरिक्त आमदनी का जरिया बनेगा।

अशोक कुमार टंडन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *