कोरोना के दौर में आई अनोखी PPE किट वाली गरबा ड्रेस
गुजरात राज्य

कोरोना के दौर में आई अनोखी PPE किट वाली गरबा ड्रेस

गुजरात सरकार ने कोरोना वायरस के चलते इस बार गरबा के कार्यक्रमों पर रोक लगाई है। नवरात्रि इस बार 17 अक्टूबर से शुरू हो रही हैं। गुजरात के इतिहास में शायद यह पहली बार है जब COVID-19 के कारण नवरात्रि पर्व के दौरान कोई गरबा नहीं होगा।

लेकिन गरबा प्रेमियों ने गरबा करने के लिए तोड़ निकाल लिया है। राज्य में पीपीई किट वाली गरबा ड्रेस तैयार हो रही हैं।

इंस्टिट्यूट ऑफ डिजाइन ऐंड टेक्नॉलजी से लेकर अन्य लोगों ने गरबा के दौरान कोरोना संक्रमण से बचाने वाली ड्रेस तैयार की है। इन ड्रेस की खूब चर्चा हो रही है।

पीपीई किट वाली ड्रेस पहनकर किया गरबा

इंस्टिट्यूट ऑफ डिजाइन ऐंड टेक्नॉलजी ने कोरोना संक्रमण से बचाव के साथ गरबा नृत्य करने के लिए खास ड्रेस तैयार की है। नवरात्रि से पहले गुरुवार को गुजरात के सूरत में इसे प्रदर्शित किया गया। पीपीई किट जैसी एस ड्रेस पर पारंपरिक गुजराती डिजाइन बनी है।

प्लास्टिक की बनाई गरबा ड्रेस

अहमदाबाद में एक गरबा डांसर कुछ नया लेकर आई हैं। उन्होंने एक विशेष पीपीई किट-थीम वाली नवरात्रि पोशाक तैयार की है। यह पोशाक प्लास्टिक से बनी है।

कोरोना योद्धाओं की तस्वीरों वाली गरबा ड्रेस

अहमदाबाद के डिजाइनर ने कोरोना योद्धाओं को समर्पित एक गरबा ड्रेस तैयार की है। इस ड्रेस में कोरोना वॉरियर्स की तस्वीरें लगाई गई हैं। लोगों को यह स्टाइल बेहद पसंद आ रही है।

दुर्गा पूजा होगी लेकिन गरबा नहीं

गुजरात सरकार ने इस साल दुर्गा मां की सामूहिक पूजा की इजाजत देगी हालांकि यह भी कहा कि इसमें शामिल होने वाले लोगों की संख्या 200 से अधिक नहीं होनी चाहिए। प्रार्थना का समय एक घंटा निर्धारित किया गया है साथ ही कहा गया है कि ऐसे आयोजन में गरबा नहीं किया जा सकेगा।

गरबा न होने से 150 करोड़ का नुकसान!

गुजरात में इस साल गरबा का आयोजन न होने से इससे जुड़े कारोबार को लगभग 150 करोड़ रुपये के नुकसान का अंदाजा लगाया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *