MSP पर गेहूं और धान की खरीद में सरकार ने बनाया रिकॉर्ड-किसानों को 2,31,306 करोड़ रुपये का भुगतान
राज्य

MSP पर गेहूं और धान की खरीद में सरकार ने बनाया रिकॉर्ड-किसानों को 2,31,306 करोड़ रुपये का भुगतान03-जून-2021

  • पिछले वर्ष की खरीद के मुकाबले 12.70 फीसदी अधिक गेहूं खरीदा जा चुका है, जबकि धान की खरीद भी सर्वकालिक उच्च स्तर पर पहुंच गई है.

एमएसपी (MSP) यानी न्यूनतम समर्थन मूल्य पर गेहूं और धान की खरीद में केंद्र सरकार ने ​नया रिकॉर्ड बनाया है. 1.62 करोड़ से ज्यादा किसानों से करीब 2,31,306 करोड़ के गेहूं और धान खरीदे गए हैं. पिछले वर्ष की खरीद के मुकाबले 12.70 फीसदी अधिक गेहूं खरीदा जा चुका है, जबकि धान की खरीद भी सर्वकालिक उच्च स्तर पर पहुंच गई है और इसने खरीफ विपणन सत्र 2019-20 के पिछले उच्च स्तर 773.45 लाख मीट्रिक टन खरीद के आंकड़े को पार कर लिया है.

गेहूं की खरीद वर्तमान रबी विपणन सत्र आरएमएस 2021-22 के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य पर उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, बिहार, राजस्थान, गुजरात, हिमाचल प्रदेश तथा जम्मू और कश्मीर राज्यों में सुचारु रूप से जारी है, जिस तरह से पिछले सत्रों में होती रही है. एक जून तक 409.80 लाख मीट्रिक टन गेहूं की खरीद की गई है.

यह अब तक की खरीद का सबसे उच्चतम स्तर है, क्योंकि इसने आरएमएस 2020-21 के पिछले उच्च स्तर 389.92 लाख मीट्रिक टन गेहूं की खरीद के आंकड़े को पार कर लिया है. पिछले साल की इसी अवधि में 363.61 लाख मीट्रिक टन गेहूं खरीदा गया था. लगभग 44.12 लाख किसान मौजूदा रबी विपणन सत्र में एमएसपी मूल्यों पर हुए खरीद कार्यों से लाभान्वित हो चुके हैं और उन्हें 80,936.19 करोड़ रुपये का भुगतान किया जा चुका है.

धान की बिक्री में भी बनाया रिकॉर्ड

वर्तमान खरीफ 2020-21 में धान की खरीद इसकी बिक्री वाले राज्यों में सुचारू रूप से जारी है. एक जून तक 796.46 लाख मीट्रिक टन से अधिक धान खरीद की जा चुकी है. इसमें खरीफ फसल का 706.69 लाख मीट्रिक टन और रबी फसल का 89.77 लाख मीट्रिक टन धान शामिल है. जबकि पिछले वर्ष की इसी समान अवधि में 726.85 लाख मीट्रिक टन धान खरीदा गया था.

मौजूदा खरीफ विपणन सत्र में लगभग 118.16 लाख किसानों को पहले ही एमएसपी मूल्य पर 1,50,370.25 करोड़ रुपये का भुगतान करके खरीद कार्य से लाभान्वित किया जा चुका है. धान की खरीद भी सर्वकालिक उच्च स्तर पर पहुंच गई है और इसने खरीफ विपणन सत्र 2019-20 के पिछले उच्च स्तर 773.45 लाख मीट्रिक टन के आंकड़े को पार कर लिया है.

दलहन और तिलहन की खरीद

तमिलनाडु, कर्नाटक, महाराष्ट्र, तेलंगाना, गुजरात, हरियाणा, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, ओडिशा, राजस्थान और आंध्र प्रदेश जैसे राज्यों से मिले प्रस्तावों के आधार पर खरीफ विपणन सत्र 2020-21और रबी विपणन सत्र 2021 के अलावा ग्रीष्म सत्र 2021 के लिए मूल्य समर्थन योजना (पीएसएस) के तहत 107.81 लाख मीट्रिक टन दलहन और तिलहन की खरीद को भी मंजूरी प्रदान की गई थी.

4.32 लाख किसानों को मिले 3,818 करोड़ रुपये

खरीफ 2020-21 और रबी 2021 के तहत एक जून तक सरकार द्वारा अपनी नोडल एजेंसियों के माध्यम से 7,29,854.74 मीट्रिक टन मूंग, उड़द, तुअर, चना, मसूर, मूंगफली की फली, सरसों के बीज और सोयाबीन की खरीद एमएसपी मूल्यों पर की गई है. इस खरीद से तमिलनाडु, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, गुजरात, उत्तर प्रदेश, तेलंगाना, हरियाणा और राजस्थान के 4,32,323 किसानों को 3,818.78 करोड़ रुपये की आय हुई है.

Source : “TV9 भारतवर्ष” via Dailyhunt

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *