• October 6, 2022 3:06 am

जरा भी लक्षण लगे तो कराएं जांच और घर पर बुजुर्गों का रखें ख्याल-डॉ. भूरे

By

Apr 9, 2021
जरा भी लक्षण लगे तो कराएं जांच और घर पर बुजुर्गों का रखें ख्याल-डॉ. भूरे
Share More

दुर्ग,09 अप्रैल 2021।जिले में एक्टिव सर्विलेंस दलों के माध्यम से आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा घर-घर पहुंच कर कोरोना के संबंध में लोगों को जागरूक किया जा रहा है। 45 साल से अधिक आयु के सभी लोगों से कोरोना वैक्सीनेशन करवाने और कोरोना के लक्षण लगने पर तत्काल कोरोना टेस्ट कराने की अपील की जा रही है। 

जिले के महिला एवं बाल विकास अधिकारी विपिन जैन ने बताया, 1,500 आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की टीम द्वारा कोरोना का सर्वेक्षण किया जा रहा है। साथ ही साथ कोरोना से बचाव और नियंत्रण के लिए कोरोना अनुरूप व्यवहारों का पालन करने जैसे मास्क पहने,सामाजिक दूरी बनाए रखें ,सैनिटाइजर का उपयोग करने का प्रचार- प्रसार किया जा रहा है। जिले के शहरी इलाके भिलाई, वैशाली नगर, दुर्ग नगर निगम क्षेत्रों में बढ़ते कोरोना संक्रमण पर नियंत्रण के लिए लोगों को सर्दी-खांसी सहित किसी भी तरह के लक्षण नजर आने पर मेडिकल से दवाइयां नहीं लेते हुए जांच कराने की समझाइश दी जा रही है।

जिला प्रशासन द्वारा मरीजों की बढती तादाद को देखते हुए नए अस्पतालों को कोविड केयर बनाने की तैयारी कर रहे हैं। समय पर जांच व इलाज से ही कोरोना को हराने में सफलता मिल सकती है। चिकित्सकों का मानना है कि कोरोना संक्रमण का इलाज करा रहे मरीजों को सकारात्मक सोच के माध्यम से डर के माहौल से बाहर निकाला जा सकता है। ऐसे लोग जो पूर्व में किसी तरह के बीपी, शुगर, किडनी, टीबी, एड्स जैसे बीमारी से जुझ रहे हैं उनको सतर्क रहने की जरुरत है। स्वास्थ्य के प्रति सचेत रहकर ही कोरोना संकट से उबर सकते हैं। संक्रमण से बचाव के लिए मास्क, सेनेटाइजर के साथ ही दो गज की दूरी और टीका भी जरुरी है।

कलेक्टर डॉ सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने बताया, “सभी कंटेनमेंट जोन के अलावा पूरे क्षेत्र में एक्टिव सर्विलेंस दलों के माध्यम से घर-घर जाकर कोरोना के संबंध में समझाइश दी जा रही है। सभी कंटेनमेंट जोन के बाहर कैम्प लगाकर उस क्षेत्र में रहने वाले लोगों का कोरोना टेस्ट किया जा रहा है। उन्होंने लोगों से अपील करते हुए कहा कि कोरोना महामारी को हराने के लिए 6 से 14 अप्रैल तक लॉकडाउन के नियमों का पालन करते हुए घर पर सुरक्षित रहे हैं। घर पर परिवार के बड़े बुजुर्गों की सेवा व ध्यान रखें। किसी भी प्रकार के बीमारी का लक्षण लगने पर तुरंत नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र में जाकर जांच कराकर दवाइयां लें। वहीं परिवार में 45 साल से अधिक उम्र के सदस्य होने पर स्वास्थ्य केंद्र में वैक्सीन लगवाएं। जिले के 285 शासकीय स्वास्थ्य केंद्र व 22 निजीअस्पतालों सहित कुल 307 केंद्रों में वैक्सीन लगाए जा रहे हैं। जिले में प्रतिदिन औसत 20,000डोज लगाए जा रहे हैं वहीँ लगभग 5,000 लोगों की कोरोना जांच की जा रही है। अब तक जिले में लगभग 3 लाख वैक्सीन के डोज लगाए गए हैं”।

 इसी तरह एक्टिव सर्विस के माध्यम से 45 वर्ष के अधिक आयु के ऐसे नागरिकों ,जो कोरोना का वैक्सीन लगवाना चाहते हैं ,उनके आवेदन भरने जैसे कार्य और टीकाकरण का समय दिलाने का कार्य भी इन दलों के माध्यम से किया जा रहा है।

Ganesh Sonkar


Share More

Leave a Reply

Your email address will not be published.