वैक्सीनेशन की शुरुआत के साथ ही भारत में कोरोना वायरस (Coronavirus) के अंत की शुरुआत हो गई है. इतना ही नहीं इस महामारी के खिलाफ
राष्ट्रीय

Corona के खिलाफ जंग में भारत ने फिर बढ़ाया मदद का हाथ इन देशों को भेजेगा Vaccine

वैक्सीनेशन की शुरुआत के साथ ही भारत में कोरोना वायरस (Coronavirus) के अंत की शुरुआत हो गई है. इतना ही नहीं इस महामारी के खिलाफ जंग में भारत पड़ोसी देशों के लिए बड़ी उम्मीद बनकर उभरा है. 20 जनवरी भारत 7 पड़ोसी देशों को चरणबद्ध तरीके से कोरोना की वैक्सीन उपलब्ध कराएगा. सबसे पहले भूटान (Bhutan), बांग्लादेश (Bangladesh), नेपाल (Nepal), मालदीव (Maldives) जैसे देशों को वैक्सीन पहुंचाई जाएगी. जानकारी के मुताबिक अफगानिस्तान (Afghanistan), श्रीलंका (Sri Lanka) और मॉरिशस (Mauritius) से रेगुलेटर की मंजूरी मिलने के बाद उन्हें भी वैक्सीन की सप्लाई शुरू की जाएगी.

भारत ने पहले भी की मित्र देशों की मदद
सरकार का कहना है कि भारत अपने घरेलू जरूरतों का ध्यान रखते हुए चरणबद्ध तरीके से मित्र देशों को वैक्सीन उपलब्ध कराता रहेगा. बता दें कि भारत ने कोरोना महामारी (Corona Pandemic) के दौरान मित्र देशों को तमाम मेडिकल इक्विपमेंट्स से लेकर हाइड्रोक्लोरोक्विन, पेरासिटामोल और तमाम दवाइयां पहुंचाता रहा है. भारत ने महामारी के दौरान कई मित्र राष्ट्रों में स्वास्थ्य सुविधाएं मजबूत करने के लिए स्वास्थ्य कर्मचारियों को ट्रेनिंग की सुविधा भी दी है.

टीकाकरण के बाद दुष्प्रभाव के मामले ना के बराबर
इधर, देश में कोरोना वैक्सीनेशन का काम तेजी से जारी है. सरकार ने मंगलवार को कहा कि कोविड-19 से बचाव के लिए टीका लेने वाले कुल लोगों में से 0.18 प्रतिशत में ही प्रतिकूल असर देखने को मिला, जबकि 0.002 प्रतिशत लोगों को अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा जो कि बहुत निम्न स्तर है. नीति आयोग के सदस्य (स्वास्थ्य) वी के पॉल ने कहा कि टीकाकरण के बाद दुष्प्रभाव और गंभीर समस्या अब तक नहीं देखने को मिली है. प्रतिकूल असर के मामले ना के बराबर हैं. उन्होंने इस बात पर बल दिया कि दोनों टीके सुरक्षित हैं.

टीकाकरण के मामले में भारत ने बनाया ये रिकॉर्ड
केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने कहा कि भारत में पहले दिन कोविड-19 टीकाकरण अभियान के तहत सबसे अधिक लोगों को टीके दिए गए. उन्होंने कहा, ‘पहले दिन भारत में 2,07,229 लोगों को टीके दिए गए जबकि अमेरिका में पहले दिन 79,458 लोगों का टीकाकरण हुआ. ब्रिटेन में पहले दिन 19,700 और फ्रांस में केवल 73 लोगों को टीके दिए गए.

उन्होंने कहा, ‘सबसे महत्वपूर्ण बिंदु यहां यह है कि अगर हम पहले सप्ताह के आंकड़ों पर गौर करें तो अमेरिका में 5,56,208 लोगों का टीकाकरण हुआ जो कि हम तीन दिनों में ही पार कर गए. ब्रिटेन में पहले सात दिनों में 1,37,897 लोगों को टीके दिए गए, फ्रांस में पहले सप्ताह में 516 लोगों और रूस में 52,000 लोगों का टीकाकरण हुआ. इसलिए आप तुलना कर सकते हैं और हमने तो शुरुआत ही की है, जिसमें और रफ्तार आएगी.’

वैक्सीनेशन में ये राज्य आगे
भूषण ने कहा कि राजस्थान और उत्तर प्रदेश समेत नौ राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों ने 70 प्रतिशत से ज्यादा टीकाकरण किया है. उन्होंने कहा, ‘कोविड-19 टीकाकरण कवरेज में बेहतर प्रदर्शन करने वाले राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में लक्षद्वीप (89.3 प्रतिशत), सिक्किम (85.7 प्रतिशत), ओडिशा (82.6 प्रतिशत), तेलंगाना (81.1 प्रतिशत), उत्तरप्रदेश (71.4 प्रतिशत), राजस्थान (71.3 प्रतिशत) शामिल हैं.’

उन्होंने कहा कि कोविड-19 के कुल उपचाराधीन मरीजों में 72 प्रतिशत केरल, महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, कर्नाटक और पश्चिम बंगाल के हैं.

ZEE

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *