चीन के खिलाफ भारतीय सेना का सबसे बड़ा अभियान, LAC पर सर्दियों के लिए ऐसी है तैयारी
राष्ट्रीय

चीन के खिलाफ भारतीय सेना का सबसे बड़ा अभियान, LAC पर सर्दियों के लिए ऐसी है तैयारी

भारतीय सेना (Indian Army) कई दशकों के अपने सबसे बड़े सैन्य भंडारण अभियान के तहत पूर्वी लद्दाख (Ladakh) में ऊंचाई वाले क्षेत्रों में लगभग चार महीनों की भीषण सर्दियों के मद्देनजर टैंक, भारी हथियार, गोला-बारूद, ईंधन के साथ ही खाद्य और आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति में लगी हुई है.

सैन्य सूत्रों के अनुसार, शीर्ष कमांडरों के एक समूह के साथ थल सेना प्रमुख जनरल एम एम नरवणे (MM Naravane) इस विशाल अभियान में निजी तौर से जुड़े हुए हैं. इसकी शुरुआत जुलाई के मध्य में हुई थी और अब यह पूरा होने जा रहा है. सूत्रों ने कहा कि खासी संख्या में T-90 और T-72 टैंक, तोपों, अन्य सैन्य वाहनों को विभिन्न संवेदनशील इलाकों में पहुंचाया गया है. इस अभियान के तहत सेना ने 16,000 फुट की ऊंचाई पर तैनात जवानों के लिए बड़ी मात्रा में कपड़े, टेंट, खाद्य सामग्री, संचार उपकरण, ईंधन, हीटर और अन्य वस्तुओं की भी ढुलाई की है.

आजादी के बाद सबसे बड़ा लॉजिस्टिक अभियान
एक वरिष्ठ सैन्य अधिकारी ने बताया कि अब तक का यह सबसे लॉजिस्टिक अभियान है जो आजादी के बाद लद्दाख में पूरा किया गया है. यह विशाल स्तर पर है. भारत ने किसी भी चीनी दुस्साहस से निपटने के लिए पूर्वी लद्दाख में तीन अतिरिक्त सेना डिविजन की तैनाती की है. वहां अक्टूबर से जनवरी के बीच तापमान शून्य से नीचे पांच डिग्री सेल्सियस से शून्य से 25 डिग्री सेल्सियस नीचे के बीच रहता है.

LAC के पास हाई अलर्ट पर वायु सेना 
सूत्रों ने कहा कि भारत ने यूरोप के कुछ देशों से सर्दियों के कपड़े आदि आयात किए हैं और पूर्वी लद्दाख में सैनिकों को पहले ही उनकी आपूर्ति की जा चुकी है. क्षेत्र में हजारों टन भोजन, ईंधन और अन्य उपकरणों के परिवहन के लिए C-130 जे सुपर हरक्यूलिस और C-17 ग्लोबमास्टर सहित भारतीय वायु सेना के लगभग सभी परिवहन विमानों और हेलीकॉप्टरों का उपयोग किया गया. भारतीय सेना ने सर्दियों के महीनों में पूर्वी लद्दाख में सभी प्रमुख क्षेत्रों में सैनिकों की अपनी मौजूदा संख्या को बनाए रखने का फैसला किया है क्योंकि चीन के साथ सीमा विवाद के जल्द समाधान का कोई संकेत नहीं है. भारतीय वायु सेना ने भी वास्तविक नियंत्रण रेखा से लगे क्षेत्रों में हाई अलर्ट पर रहने का फैसला किया है.












ZEE

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *