वैक्सीन की दोनों डोज लगने के बाद स्कूलों में आएंगे मिड-डे मील वर्कर
  • शिक्षा मंत्री गोविंद ठाकुर ने बताया कि जिला स्तर पर कोविड निगरानी के लिए कमेटियां बनाई हैं।
  • ये कमेटियां प्रतिदिन रिपोर्ट तैयार करेंगी।

31 जुलाई 2021 | कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए वैक्सीन की दोनों डोज लगाने के बाद ही मिड-डे मील वर्करों को स्कूलों में बुलाया बुलाया जाएगा। शुक्रवार को सचिवालय में पत्रकारों से अनौपचारिक बातचीत में शिक्षा मंत्री गोविंद ठाकुर ने कहा कि 80 फीसदी मिड-डे मील वर्करों को पहली डोज लग चुकी है। प्रदेश के सरकारी स्कूलों में नियुक्त करीब 94 फीसदी शिक्षकों का टीकाकरण हो चुका है। जल्द सौ फीसदी लक्ष्य को पूरा किया जाएगा। 75702 शिक्षकों में से 71064 शिक्षकों को वैक्सीन लगाई जा चुकी है।

बताया कि दो अगस्त से 10वीं से 12वीं कक्षा के विद्यार्थियों के लिए स्कूल खोलने की तैयारी कर ली गई है। शिक्षा विभाग ने कोरोना से बचाव के लिए एसओपी जारी किया है। इसका पालन करवाने के लिए प्रिंसिपलों को जिम्मेदारी दी गई है। दो अगस्त से पांचवीं और 8वीं कक्षा के विद्यार्थी भी शिक्षकों से परामर्श लेने के लिए स्कूल आ सकेंगे। मंत्री ने बताया कि जिला स्तर पर कोविड निगरानी के लिए कमेटियां बनाई हैं। ये कमेटियां प्रतिदिन रिपोर्ट तैयार करेंगी।

स्कूलों में रोजाना शौचालय दो बार और कक्षाओं को एक बार सैनिटाइज किया जाएगा। मौसम साफ रहा तो कुछ स्कूलों में खुले में कक्षाएं लगाई जा सकेंगी। हर स्कूल ने अपना माइक्रो प्लान तैयार किया है। विद्यार्थियों के आने-जाने के समय में दस से पंद्रह मिनट का अंतर रखा जाएगा। लंच ब्रेक का समय भी कक्षावार अलग होगा। हर स्कूल के प्रवेश द्वार पर सैनिटाइजर लगाए जाएंगे। थर्मल स्क्रीनिंग के बाद ही प्रवेश दिया जाएगा। सर्दी, खांसी, बुखार और जुकाम के लक्षण वाले विद्यार्थियों को छुट्टी दी जाएगी। पार्ट टाइम वर्करों को भी तेजी से वैक्सीन लगाई जाएगी।

शिक्षा मंत्री ने 25 स्मार्टफोन देने को किया ऑनलाइन पंजीकरण
शिक्षा विभाग के डिजिटल साथी-बच्चों का सहारा फोन हमारा योजना के तहत शुक्रवार को 25 स्मार्ट फोन अपनी ओर से देने के लिए शिक्षा मंत्री ने ऑनलाइन पंजीकरण किया। बीते दिनों सरकार ने जरूरतमंद बच्चों के लिए स्मार्ट फोन उपलब्ध करवाने को यह योजना शुरू की है।

आठ सितंबर को शिक्षा नीति पर होगा कार्यक्रम
शिक्षा मंत्री ने बताया कि आठ सितंबर को हिमाचल में राष्ट्रीय शिक्षा नीति लागू किए एक साल होगा। इस दिन प्रदेश में भी कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा। शिक्षा विभाग ने नीति के कई प्रावधानों पर काम शुरू कर दिया है। आने वाले कार्यों को आठ सितंबर को तय किया जाएगा।

Source;-“अमर उजाला”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *