• October 6, 2022 2:20 am

20 से अधिक राज्‍यों में भारी बारिश का अलर्ट, बाढ़ का खतरा बढ़ा, 122 टीमें तैनात

ByPrompt Times

Jul 24, 2020
20 से अधिक राज्‍यों में भारी बारिश का अलर्ट, बाढ़ का खतरा बढ़ा, 122 टीमें तैनात
Share More

मौसम बिगड़ रहा है। मानसून का रौद्र रूप अब सामने आ रह है। बिहार, असम और पंजाब में बारिश और बाढ़ का तांडव मच गया है। जनजीवन बुरी तरह प्रभावित हो गया है। खतरा अभी टला नहीं है। मौसम के जानकारों ने चेताया है कि अगले 12 से 18 घंटों के दौरान देश के कई राज्‍यों में भारी बारिश की संभावना है। इसके अलावा आकाशीय बिजली चमकने, तेज हवाओं के भी चलने का अनुमान है। कई शहरों में बाढ़ का खतरा है, ऐसे में सरकार अब हरकत में आ गई है। असम और बिहार सहित 20 राज्‍यों में आपदा बल NDRF की 122 टीमों को तैनात किया गया है। मध्‍यप्रदेश और छत्‍तीसगढ़ के अधिकांश शहरों में तेज बारिश की संभावना जताई गई है। मौसम के ताजा हाल से जुड़ा हर अपडेट यहां देखें।

देश के इन राज्‍यों के लिए 24 घंटों का यह है अनुमान

अगले 24 घंटों के दौरान पश्चिम बंगाल, पूर्वोत्तर भारत, झारखंड, छत्तीसगढ़, दक्षिणी मध्य प्रदेश, विदर्भ और मराठवाड़ा में हल्की से मध्यम बारिश होने की संभावना है। आंतरिक कर्नाटक, अंडमान व निकोबार द्वीपसमूह, कोंकण गोवा, गुजरात, दक्षिण-पूर्वी और उत्तरी राजस्थान, पंजाब, हरियाणा और दिल्ली में एक-दो स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। पश्चिमी हिमालय, उत्तर प्रदेश, ओडिशा, उत्तरी तटीय आंध्र प्रदेश और अंडमान व निकोबार द्वीपसमूह में भी हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। एक-दो स्थानों पर तेज़ वर्षा होने की भी संभावना है। तेलंगाना, तटीय कर्नाटक, केरल के कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। तमिलनाडु में भी एक-दो स्थानों पर हल्की वर्षा के आसार हैं।

मध्‍य प्रदेश में इन शहरों में हो सकती है बारिश

24 और 25 जुलाई को मध्य प्रदेश के दक्षिण-पूर्वी जिलों जबलपुर, मंडला, बालाघाट, कटनी से लेकर पश्चिम में इंदौर, उज्जैन, रतलाम, देवास, धार, मंदसौर और अन्य दक्षिण पश्चिमी भागों में अच्छी बारिश होगी। इसके अलावा मंडला, मुंगेली, पन्ना, रायगढ़, रायपुर, रायसेन, रीवा, सागर, सतना, सीहोर, सिवनी, शहडोल, शाजापुर, शाजापुर, शाजापुर, शिवपुरी, सीधी, सिंगरौली, सुरगुजा, उमरिया में तेज आंधी और गरज के साथ बारिश हो सकती है। 24 और 25 जुलाई को बारिश का ज़ोर मध्य प्रदेश के दक्षिणी भागों पर तथा दक्षिणी छत्तीसगढ़ पर ज़्यादा रहेगा। गुना, होशंगाबाद, जबलपुर, कटनी, अनूपपुर, अशोकनगर, बालाघाट, बैतूल, भोपाल, छिंदवाड़ा, दमोह आदि जिलों में आंधी और तेज़ हवा के साथ बारिश हो सकती है।

छत्‍तीसगढ़ के इन शहरों में बारिश संभव

छत्तीसगढ़ में 24 जुलाई को कई जगहों पर अच्छी बरसात हो सकती है। सूरजपुर, कोरिया, कोरबा, बिलासपुर, बेमेतरा, राजनन्दगाँव, दुर्ग, रायपुर, महासमन्द, धमतरी, कांकेर, बस्तर, बीजापुर, दांतेवाड़ा और सुकमा समेत अधिकांश हिस्सों में अगले 48 घंटों के दौरान अच्छी बारिश के आसार हैं। 6 जुलाई से उत्तरी हिस्सों से बारिश की फिर से शुरुआत होगी और धीरे-धीरे मध्य भागों में देखने को मिलेगी। दुर्ग, गरियाबंद,जांजगीर – चंपा, जशपुर, बालोद, बलौदा बाजार, बलरामपुर, धमतरी, डिंडोरी, दुर्ग, कोरबा, कोरिया, महासमुंद में बारिश संभव है।

राजस्‍थान के ये शहर हो सकते हैं प्रभावित

राजस्‍थान में अजमेर, अलवर, बारां, भरतपुर, बूंदी, चूरू, दौसा, धौलपुर, हनुमानगढ़, जयपुर, झालावाड़, झुंझुनूं, करौली, कोटा, नागौर, सवाई माधोपुर, सिकंदर और टोंक पर तेज हवा के साथ बारिश और गरज के साथ बारिश संभव है।

बिहार के इन शहरों में बारिश का खतरा

पटना, पूर्णिया, रोहतास, सहरसा, समस्तीपुर, सारण, शेखपुरा, शेहरपुर, सीतामढ़ी, सीवान, सुपौल, वैशाली, किशनगंज, लखीसराय, मधेपुरा, मधुबनी, मुंगेर, मुजफ्फरपुर, नालंदा, नवादा, पुर्बा और पशिम चंपारण, अररिया, औरंगाबाद, बांका, बेगूसराय, भागलपुर, भोजपुर, बक्सर, दरभंगा, गोपाल, गोपालगंज, जमुई, जहानाबाद, जहानाबाद और बिहार में अगले 12 से 18 घंटों के दौरान तेज हवाओं के साथ बारिश का खतरा मंडरा रहा है।

महाराष्‍ट्र में इन शहरों में बारिश का अनुमान

महाराष्‍ट्र के अकोला, अमरावती, औरंगाबाद, भंडारा, बुलंदाना, चंद्रपुर, धुले, गढ़चिरौली, गोंदिया, जलगाँव, जालना, नंदपुर, नांदेड़, नासिक, वर्धा आदि जिलों में अगले 12 से 18 घंटों में बारिश के आसार हैं।

हिमाचल प्रदेश में भारी बारिश का यलो अलर्ट जारी

हिमाचल प्रदेश में शुक्रवार और शनिवार को भारी बारिश और आंधी चलने की चेतावनी मौसम विशेषज्ञों ने जारी की है। विशेषज्ञों ने यलो अलर्ट जारी किया है। मौसम विभाग के निदेशक डॉक्‍टर मनमोहन ने कहा कि आगामी दो दिन भारी बारिश हो सकती है। इस कारण लोग खास एहत‍ियात बरतें। आपदा प्रबंधन से जुड़े अधिकारियों ने भी लेागों को नदी व नालों के किनारे न जाने की सलाह दी है।

आंध्र प्रदेश और तेलंगाना के लिए अलर्ट

इन दोनों राज्‍यों के कृष्णा, मनचेरियल, नलगोंडा, पेद्दापल्ले, प्रकाशम, सिद्धिपेट, सूर्यापेट, विशाखापट्टनम, विजयनगरम, वारंगल, यानम, गोदावरी, गुंटूर, जगतियाल, जागाँव, जया शंकर, करीमनगर, खम्मम, कोठागुडेम आदि जिलों में अगले 24 घंटों में तेज हवाओं और हल्की से मध्यम बारिश और गरज के साथ हल्की बारिश का अनुमान है।

बाढ़ के हालात पर सरकार की यह है तैयारी

देश के विभिन्न हिस्सों में बाढ़ जैसी स्थिति पैदा हो रही है। इस वर्ष मानसून सामान्य से ऊपर है और भारी बारिश हुई है। राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (NDRF) के महानिदेशक एसएन प्रधान ने बताया कि असम में 16 और बिहार में 21 सहित 122 NDRF टीमों को 20 राज्यों में तैनात किया गया है। बिहार और असम फिलहाल संवेदनशील क्षेत्र हैं जो बाढ़ से प्रभावित हैं। असम में, बड़े पैमाने पर निकासी की गई है और लगभग 40,000 निकासी की गई है। वहां लगभग 30 जिले अत्यधिक प्रभावित है। कोसी, गंडक, कमलाबनल, महानंदा जैसी नदियां खतरे के स्तर को पार कर गई हैं, यही वजह है कि नदी फैल रही है। बिहार में बाढ़ के कारण 30 जिलों में 89 मौतें हुई हैं और 56,27,389 लोग प्रभावित हुए हैं।


Share More

Leave a Reply

Your email address will not be published.