• September 30, 2022 6:11 am

नेत्रा कुमानन ओलंपिक के लिए सीधे क्वालिफाई करने वाली पहली भारतीय नौकाचालक बनीं- वर्ल्ड कप में भी रच चुकी हैं इतिहास

By

Apr 8, 2021
नेत्रा कुमानन ओलंपिक के लिए सीधे क्वालिफाई करने वाली पहली भारतीय नौकाचालक बनीं- वर्ल्ड कप में भी रच चुकी हैं इतिहास
Share More

नेत्रा कुमानन बुधवार को ओलंपिक के लिए क्वालिफाई करने वाली भारत की पहली महिला नौकाचालक बनीं। वह ओलंपिक के लिए सीधे क्वालिफाई करने वाली पहली भारतीय नौकाचालक हैं। नेत्रा ने ओमान में एशियाई क्वालिफायर की लेजर रेडियल स्पर्धा में शीर्ष स्थान पर रहकर यह उपलब्धि अपने नाम की। तेईस साल की नेत्रा लेजर रेडियल क्लास स्पर्धा में अपनी निकटतम प्रतिद्वंद्वी और हमवतन रम्या सरवनन पर 21 अंक की बढ़त बनाई थीं। इस स्पर्धा की एक अंतिम रेस गुरुवार को होगी।

चेन्नई की नेत्रा ने जनवरी 2020 में सेलिंग वर्ल्ड कप में ब्रॉन्ज मेडल जीती थी। तब वह नौकायन वर्ल्ड कप में पदक जीतने वाली देश की पहली महिला बनी थीं। नेत्रा के मुसानाह ओपन चैम्पियनशिप में अभी 18 अंक हैं और नेत्रा की करीबी प्रतिद्वंद्वी रम्या सरवनन के 39 अंक हैं। मुसानाह ओपन चैंपियनशिप संयुक्त एशियाई और अफ्रीकी ओलंपिक क्वालिफाइंग प्रतियोगिता है। नौकायन में जिस खिलाड़ी के सबसे कम अंक होते हैं, वह प्रतियोगिता जीतता है। गुरुवार को होने वाली अंतिम रेस 20 अंक की है और नेत्रा ने एक दौर पहले ही अपना शीर्ष स्थान पक्का कर लिया। लेजर रेडियल ‘सिंगलहेंडेड बोट’ होती है जिसमें चालक अकेला नाव चलाता है।

एशियाई नौकायन महासंघ के अध्यक्ष मलव श्राफ ने कहा, ‘हां, नेत्रा ने गुरुवार को अंतिम दिन की एक रेस पहले ही टोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालिफाई कर लिया है।’ श्राफ खुद 2004 एथेंस ओलंपिक में नौकायन स्पर्धा में भारत का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं। उन्होंने कहा, ‘अंतिम रेस 20 अंक की होगी, लेकिन उनकी निकटतम एशियाई प्रतिद्वंद्वी के बीच 20 अंक से ज्यादा का अंतर है। वह भी भारतीय ही हैं।’

नीदरलैंड की एम्मा शार्लोट जीन सावेलोन भारत की रम्या से आगे दूसरे स्थान पर हैं। नेत्रा और उनके बीच तीन अंक का अंतर है, लेकिन वह इस प्रतियोगिता से ओलंपिक क्वालिफाई नहीं कर सकती क्योंकि यह एशियाई क्वालिफायर है। नेत्रा के हंगरियन कोच टमस एस्जेस ने कहा, ‘नेत्रा ने 7 अप्रैल 2021 को टोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालिफाई कर लिया। उन्होंने बड़े अंतर से बढ़त बनाई हुई है। हालांकि, आधिकारिक रूप से स्पर्धा 8 अप्रैल को अंतिम रेस जिसे ‘मेडल रेस’ कहते हैं, उसके बाद खत्म होगी।’

उन्होंने कहा, ‘मेडल रेस के नतीजे से कोई बदलाव नहीं होगा क्योंकि नेत्रा ने दो में से एक ओलंपिक कोटा हासिल कर लिया है।’ नेत्रा इस तरह ओलंपिक में नौकायन स्पर्धा के लिए क्वालिफाई करने वाली 10वीं भारतीय होंगी, लेकिन उनसे पहले सभी नौ नौकाचालक पुरुष थे। नछातर सिंह जोहाल (2008), श्राफ और सुमित पटेल (2004), एफ तारापोर और साइरस कामा (1992), केली राव (1988), ध्रुव भंडारी (1984), सोली कांट्रेक्टर और ए ए बासित (1972) इससे पहले नौकायन में ओलंपिक के लिए क्वालिफाई करने वाले भारतीय हैं।

श्राफ ने कहा कि नेत्रा अब तक एकमात्र भारतीय हैं जिन्होंने क्वालिफायर में शीर्ष पर रहकर सीधे कोटा हासिल किया है, जबकि इससे पहले नौ ओलंपिक नौकाचालकों ने कोटा तब हासिल किया जब स्थान भर नहीं पाए थे। उन्होंने कहा, ‘सभी नौ नौकाचालकों को नामांकित किया गया था। मैं 21वीं रैंकिंग पर था। मेरी स्पर्धा में ओलंपिक में केवल 20 को प्रतिस्पर्धा करनी थी। किसी के हटने से मुझे मौका मिला, क्योंकि मैं ‘वेटिंग’ सूची में सबसे पहला था।’

श्राफ ने कहा, ‘नेत्रा पहली भारतीय (पुरुष या महिला) हैं जिन्होंने क्वालिफायर में कोटा स्थान हासिल करके सीधे क्वालिफाई किया है।’ उन्होंने यह भी कहा कि दो अन्य भारतीय भी गुरुवार को अंतिम दिन टोक्यो ओलंपिक क्वालिफिकेशन की दौड़ में बने हुए हैं। इनमें से एक गणपति चेंगप्पा हैं जो 49अर क्लास टेलब में शीर्ष पर चल रहे हैं।


Share More

Leave a Reply

Your email address will not be published.