बंगाल के लोगों ने परिवर्तन के लिए अपना मन बना लिया है - मोदी
पं.बंगाल

बंगाल के लोगों ने परिवर्तन के लिए अपना मन बना लिया है – मोदी

कोलकाता पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी की अगुवाई वाली तृणमूल कांग्रेस सरकार पर तीखा हमला करते हुए, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को कहा कि राज्य के लोगों ने एक वास्तविक पोरिबोर्तन (परिवर्तन) के लिए अपना मन बना लिया है। मोदी ने कोलकाता से सटे हुगली जिले के डनलप एस्टेट विलेज में आयोजित एक बड़े सम्मेलन में कहा, ‘बंगाल ने पोरिबोर्तन के लिए अपना मन बना लिया है और भाजपा राज्य में आशोल पोरिबोर्तन (वास्तविक परिवर्तन) लाएगी।’

उन्होंने कहा कि भीड़ की प्रफुल्लित प्रतिक्रिया ने बंगाल में एक शासन परिवर्तन के लिए दिल्ली को सकारात्मक संकेत दिए हैं।

मोदी ने कहा कि कमल ब्रिगेड बंगाल में भाजपा की सरकार सिर्फ सत्ता में परिवर्तन के लिए नहीं, बल्कि असल परिवर्तन के लिए बनानी है। यहां कमल खिलाना जरूरी है, ताकि बंगाल की स्थिति में असल परिवर्तन आ सके, जिसकी उम्मीद में आज हमारा नौजवान जी रहा है।

पिछले एक महीने में मोदी की बंगाल की यह तीसरी यात्रा है, जिसके दौरान उन्होंने कृषि, स्वास्थ्य, शासन और कई अन्य महत्वपूर्ण मुद्दों पर राज्य सरकार की भूमिका की आलोचना की है।

हाई-वोल्टेज राज्य विधानसभा चुनावों से पहले, मोदी ने सोमवार को नोआपाड़ा और दक्षिणेश्वर खंड में पहली मेट्रो सेवा सहित रेलवे की कई परियोजनाओं का उद्घाटन भी किया। नोआपाड़ा और दक्षिणेश्वर के बीच बहुप्रतीक्षित मेट्रो सेवा को हरी झंडी दिखाने के साथ, प्रधानमंत्री ने कलाइकुंडा और झारग्राम के बीच 30 किलोमीटर की तीसरी लाइन का भी उद्घाटन किया।

इसके अलावा, मोदी की यात्रा के दौरान तीन अन्य रेलवे परियोजनाओं का उद्घाटन किया गया, जिसमें अजीमगंज और खगराघाट रोड के बीच दोहरीकरण, दनकुनी और बरुइपारा के बीच की अगली लाइन और रसूलपुर और मोगरा के बीच तीसरी लाइन शामिल हैं।

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर निशाना साधते हुए मोदी ने कहा कि बंगाल को लाखों गरीबों को आयुष्मान भारत योजना के तहत 5 लाख रुपये की मुफ्त स्वास्थ्य सुविधा प्राप्त करने की सुविधा से वंचित किया गया है।

उन्होंने कहा, ‘बंगाल और विकास के बीच ममता जी की सरकार ने इस तरह की बाधाएं पैदा की हैं।’ मोदी ने कहा कि वास्तविक परिवर्तन केवल तभी संभव है जब कोई जोर-जबरदस्ती वाली राजनीति न हो।

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘हम अन्याय नहीं चाहते हैं। हम वास्तविक बदलाव चाहते हैं। जो पार्टी ‘मां-माटी-मानुष’ की बात करती है, उसी ने बंगाल का विकास रोका है।’

मोदी ने आगे कहा कि केंद्र ने लोगों के खातों में सीधे पैसा भेजा, लेकिन तृणमूल तोलाबाज (जबरन वसूली) ने राज्य की योजनाओं के लिए पैसा लिया। इस मानसिकता ने लोगों को किसान सम्मान निधि योजना का लाभ प्राप्त करने से रोक दिया है। उन्होंने इसे कट-कट संस्कृति वाली समस्या करार दिया। यानी लोगों को उनके लाभों से वंचित किया जा रहा है।

इससे पहले, तृणमूल कांग्रेस ने दावा किया था कि राज्य द्वारा लाभार्थियों की सत्यापित सूची भेजे जाने के बावजूद केंद्र ने कभी भी पीएम-किसान योजना के तहत धन का वितरण नहीं किया। केंद्र ने हालांकि दावा किया था कि उसे ऐसी कोई सूची नहीं मिली है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *