हिमाचल के सरकारी डिपो में मिलने वाला रिफाइंड तेल हुआ महंगा
हिमाचल प्रदेश

हिमाचल के सरकारी डिपो में मिलने वाला रिफाइंड तेल हुआ महंगा

हिमाचल प्रदेश के सरकारी डिपुओं के रिफाइंड का तड़का महंगा हो गया है। सरकार ने उचित मूल्य की दुकानों में उपभोक्ताओं को अनुदान पर दिए जाने वाले रिफाइंड की कीमत 26 रुपये लीटर बढ़ा दी है। बढ़ी नई कीमतों के साथ डिपुओं में सप्लाई भी पहुंच चुकी है। कई स्थानों पर नए रेट में इस माह का कोटा मिलना भी शुरू हो गया है।

हालांकि, डिपुओं में सरसों का तेल अभी पुराने रेट पर ही दिया जा रहा है। महंगे रसोई गैस सिलिंडर से पहले ही परेशान लोगों की मुश्किलें अब डिपुओं में महंगे हुए रिफाइंड से और बढ़ गई हैं। जिला मंडी में करीब 3.12 लाख राशन कार्ड धारक हैं। करसोग में कुल कार्ड धारकों की संख्या 25681 है। बता दें कि डिपुओं में तीन श्रेणियों एनएफएसए (नेशनल फूड सिक्योरिटी एक्ट), एपीएल और आयकरदाता के तहत सस्ता राशन मिल रहा है। 

श्रेणी            पहले             अब   
एनएफएसए    78                104  
एपीएल           83              109 
आयकरदाता       —              124 

आयकरदाताओं को बाजार से महज छह रुपये सस्ता मिलेगा रिफाइंड
वर्तमान में डिपुओं में आयकरदाताओं को मिलने वाले रिफाइंड के दाम की बात की जाए तो इस श्रेणी के उपभोक्ताओं को बाजार से केवल 6 रुपये सस्ता तेल मिलेगा। बाजार में रिफाइंड का भाव 130 रुपये लीटर है।

बढ़े रेट पर मिलेगा रिफाइंड
जिला खाद्य आपूर्ति अधिकारी लक्ष्मण कनेट ने मंडी जिला में करीब 3 लाख 12 हजार राशन कार्ड धारक होने की पुष्टि की है। खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले विभाग के खाद्य निरीक्षक जगतराम वर्मा का कहना है कि होलसेल के गोदाम में रिफाइंड का नया कोटा आ गया है। इस महीने के लिए अब डिपुओं को सप्लाई भेजनी शुरू कर दी है। इस बार उपभोक्ताओं को नए बढ़े रेट पर रिफाइंड दिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *