• September 27, 2022 1:27 pm

कुशीनगर में बाढ़ प्रभावित गांवों के सड़कों की नहीं बदली सूरत

ByPrompt Times

Apr 12, 2021
Share More

कुशीनगर : खड्डा क्षेत्र में दियारा के गांवों में पिछले साल आई बाढ़ की वजह से संपर्क सड़कें क्षतिग्रस्त हो गई थीं। बाढ़ प्रभावित गांवों के दौरे के समय अधिकारियों व जनप्रतिनिधियों ने आश्वासन दिया था कि बरसात बाद सड़कों की सूरत बदल जाएगी। छह माह बीते गए न सड़कों की मरम्मत नहीं हुई। अधिकारी शिकायतों का संज्ञान तक नहीं ले रहे हैं।

पिछले साल अगस्त से अक्टूबर तक नेपाल की पहाड़ियों से आए बाढ़ के पानी से सालिकपुर, महदेवा, छितौनी, अहरौली के नौका टोला, हनुमानगंज, भगवानपुर, नौतारजंगल, पकड़ी बृजलाल मरिचहवां, शिवपुर, नारायणपुर, शाहपुर, नरकहवा समेत दो दर्जन गांवों में तबाही मची थी। सालिकपुर पुलिस चौकी से महादेवा गांव में जाने वाली सड़क, छितौनी इंटर कालेज के बगल से नरकहवां जाने वाली सड़क, अहरौली के नौका टोला ढाला से नौतार जंगल जाने वाली सड़क, बोधीछपरा ढाला से नौतार जंगल व नौतार जंगल से भगवानपुर जाने वाली सड़क पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई थी। क्षेत्र के नत्थू मौर्य, रामनरेश कुशवाहा, नगीना चौहान, राजीव सिंह, रामशीष निषाद, नागेंद्र चौधरी, श्लोक जायसवाल आदि का कहना है कि विभागीय अधिकारियों, सांसद व विधायक तक से सड़क निर्माण कराने की कई बार मांग की गई, लेकिन कुछ नहीं हुआ। लोक निर्माण विभाग के जेई जयचंद शर्मा ने बताया कि बाढ़ से क्षतिग्रस्त सड़कों के निर्माण के लिए अभी शासन से धन स्वीकृत नहीं हुआ है। बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में आरसीसी सड़क बनवाने के लिए प्रस्ताव भेजा जाएगा।

अमवाखास-लक्ष्मीपुर बांध पर बनी सड़क खस्ताहाल

शासन की ओर से प्रति वर्ष बांध की सुरक्षा व सड़कों की मरम्मत के लिए लाखों रुपये खर्च किए जाते हैं, लेकिन अमवाखास बांध पर लक्ष्मीपुर से बरवापट्टी जीरो किमी तक बनवाई गई सड़क खस्ताहाल है। सेवरही, ठकरहां होते हुए लक्ष्मीपुर को बिहार के बगहा से जोड़ने वाली यह एक मात्र सड़क है। सिचाई विभाग की सड़क होने की वजह से पीडब्ल्यूडी इसकी मरम्मत नहीं कराता है। गुरुप्रकाश मिश्र, सचिद्र तिवारी, राजन तिवारी, करुणानिधान तिवारी, डा. शैलेंद्र सिंह पटेल, जितेंद्र सिंह, शिवनरायण प्रसाद, शिवपूजन प्रसाद आदि ने मुख्यमंत्री के पोर्टल पर शिकायत कर सड़क मरम्मत की मांग की है।

सड़क निर्माण के लिए सीएम को पत्रक, आंदोलन की चेतावनी

एनएच 28 से पगरा पड़री समेत दर्जन भर गांवों को जोड़ने वाली रजवटिया-बसंतपुर सड़क बदहाल होने से लोगों में नाराजगी है। ग्रामीणों ने सीएम को पत्रक भेज सड़क का निर्माण कराए जाने की मांग की है। चंदन सिंह, अरुण सिंह, मुनचुन सिंह, अशोक कुशवाहा, बैजू सिंह, रतन गुप्ता, मुकेश, अखिलेश, संतोष यादव, जवाहर आदि की ओर से हस्ताक्षरित पत्रक के माध्यम से कहा गया है कि इस सड़क से पगरा प्रसाद गिरी, पगरा पड़री, पांडेयपुर, बसंतपुर, पड़री विशुनदयाल, पड़री राजा, धनटोली, मेहदिया आदि गांवों के लोग एनएच 28 तक पहुंचते है। नहर की पटरी पर बनाए गए खड़ंजा की वजह से आवागमन में दुश्वारियों का सामना करना पड़ता है। चेतावनी दी कि शीघ्र पक्का नहीं कराया गया तो आंदोलन किया जाएगा।

बिखरी गिट्टियां, आवागमन में दुश्वारी

दुदही विकास खंड के मठिया गांव में कसया-तमकुहीरोड मार्ग से ठाढ़ीभार के इन्नरपट्टी जाने वाली पिच सड़क की गिट्टियां उखड़ गई हैं। झरही नाला की पुलिया तक सड़क अभी अधूरी है। इससे आवागमन में दिक्कत का सामना करना पड़ता है। पुलिया के दोनो तरफ के एप्रोच रेनकट की वजह से खतरनाक हो गए हैं। क्षेत्र के विनोद वर्मा, लाल पहाड़ी, कुशवाहा, हरिकेश यादव, त्रिलोक मिश्रा, अधिवक्ता अखिलेश तिवारी, प्रमोद सिंह ने सड़क व एप्रोच की मरम्मत कराने की मांग की है।


Share More

Leave a Reply

Your email address will not be published.