पत्नी को पीने का पानी ढोने की दिक्कत से दिलाई निजात, झोपड़ी के बाहर खोद दिया 31 फीट गहरा कुआं
मध्यप्रदेश

पत्नी को पीने का पानी ढोने की दिक्कत से दिलाई निजात, झोपड़ी के बाहर खोद दिया 31 फीट गहरा कुआं

मध्य प्रदेश (MP) के गुना में एक शख्स ने घर के बाहर कुआं (Well) खोदकर दूसरों के लिए प्यार की नजीर पेश की है. एक मजदूर पीने के पानी (Drinking Water) के लिए पत्नी के आधा किमी दूर जाने से बहुत ही दुखी था. गरीब (Poor) मजदूर ने पत्नी को तोहफा देने के लिए महज 15 दिनों में अपनी झोपड़ी के बाहर एक कुआं खोद (Dug) दिया. मजदूर की पत्नी पीने का पानी लेने के लिए हर रोज घर से आधा किमी दूर जाती थी. झोपड़ी के बाहर कुआं खोदने के बाद महिला को पानी ढोने की दिक्कत से निजात मिल गई है.

यह घटना मध्य प्रदेश (MP) के गुना जिले के भानपुर बावा गांव की है. गांव के ही रहने वाले गरीब मजदूर भरत सिंह ने अपनी पत्नी (Wife) सुशीला के लिए दो महीने पहले यह खास तोहफा (Gift) दिया है. झोपड़ी के बाहर कुआं बनने से मजदूर की पत्नी को आधा किलोमीटर दूर से सिर पर पानी ढोकर लाने से निजात मिल गई है. इसके साथ ही भरत सिंह की आधा बीघा जमीन की सिंचाई करने की व्यवस्था भी हो गई है.

  • पत्नी के पानी ढोने से परेशान था मजदूर

मजदूर भरत सिंह ने आज न्यूज एजेंसी से बातचीत में कहा है कि उनके घर पर पीने की पानी की व्यवस्था नहीं थी, जिसकी वजह से उनकी पत्नी को आधा किलोमीटर दूर हैंडपंप पर पानी लेने जाना पड़ता था, जिसकी वजह से उन्हें कई तरह की परेशानी हो रही थी. कई बार हैंडपंप खराब होने की वजह से उन्हें बिना पानी के ही रहना पड़ता था.

मजदूर ने बताया कि एक दिन हैंडपंप खराब होने की वजह से उसकी पत्नी को बिना पानी के ही घर वापस लौटना पड़ा. पत्नी की इस परेशानी की वजह से उन्होंने अपनी झोपड़ी के बाहर ही कुआं खोदने की ठान ली थी. उन्होंने कहा कि पहले तो उन्हें यह संभव नहीं लग रहा था लेकिन पत्नी से प्रेरणा लेने के बाद उन्होंने ढाई महीने पहले कुआं खोदना शुरू किया.

  • मजह 15 दिन में खोदा 31 फीट गहरा कुआं

15 दिन की कड़ी मेहनत के बाद उन्होंने छह फीट व्यास वाला गोल 31 फीट गहरा कुआं खोद दिया, जिसके बाद उन्होंने कुएं को ईंट और सीमेंट से पक्का भी कर दिया. मजदूर का कहना है कि कुआं बनने से न केबल उनकी पीने के की दिक्कत दूर हुई है बल्कि उनकी जमीन के लिए सिंचाई की भी व्यवस्था हो गई है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *