• November 30, 2022 2:12 am

दिसंबर में होगा बड़ा जनआंदोलन, नये प्रभारी ने कहा- स्थानीय मुद्दों पर फोकस करें

Share More

23 नवंबर 2022 |  छत्तीसगढ़ भाजपा के नए प्रदेश प्रभारी ओम माथुर ने मंगलवार को अहम बैठकें ली। उन्होंने रायपुर के माना स्थित पार्टी के प्रदेश कार्यालय में सभी मोर्चा, जिला प्रभारियों, प्रदेश पदाधिकारियों से मुलाकात की। इसके बाद प्रदेश के स्थानीय मुद्दों पर फोकस करते हुए भाजपा के पक्ष में माहौल तैयार करने का मंत्र दिया। माथुर बैठक में सभी से परिचय लिए जाने के बाद चुनावी एक्शन मोड में आने की नसीहत देते दिखे।

इधर, कुछ देर बाद जब ये बैठकें खत्म हुईं तब बाहर आकर पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अरुण साव ने अहम जानकारी दी। उन्होंने बताया कि आने वाले दिनों में भाजपा बड़ा जन आंदोलन खड़ा करेगी। ये आंदोलन प्रधानमंत्री आवास योजना के लिए होगा।

दरअसल, प्रदेश से 2021-22 में इस योजना के तहत कोई काम नहीं हो पाया, क्योंकि राज्य सरकार की ओर से फंड जारी नहीं किया गया। अब इसे बड़ा सियासी मुद्दा बनाने की तैयारी भाजपा कर रही है। ओम माथुर की मौजूदगी में तय किया गया कि इसे लेकर दिसंबर में बड़े विरोध प्रदर्शन प्रदेश स्तर पर किए जाएंगे।

दिसंबर के महीने में ब्लॉक और जिला स्तर पर आंदोलन और धरना प्रदर्शन शुरू कर दिए जाएंगे। अंतिम रूप में राजधानी रायपुर में बड़ा प्रदर्शन भाजपा कर सकती है। इस बीच भानुप्रतापपुर का चुनाव भी है। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अरुण साव ने कहा कि हम ये चुनाव पूरी ताकत से लड़ रहे हैं। लोगों के बीच जाकर कांग्रेस का असल चेहरा उजागर करेंगे और जीत हमें मिलेगी।

PM आवास पर बरसी थीं स्मृति ईरानी
बिलासपुर में हाल ही में हुई महतारी हुंकार रैली में केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा था- छत्तीसगढ़ की गरीब जनता ने क्या पाप किया, कांग्रेस ने 16 लाख परिवारों की छत छीन ली। प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ पूरे देश की जनता को मिल रहा है। लेकिन छत्तीसगढ़ की कांग्रेस ने इस योजना को ही बंद कर दिया है |

राज्य सरकार ने कहा था पूरा पैसा दे केंद्र
छत्तीसगढ़ में बनने वाले PM आवास योजना के मकान नहीं बन रहे। केंद्र सरकार ने 2021-22 के लिए राज्य को आवंटित 7 लाख 81 हजार 999 मकान बनाने के प्रोजेक्ट को वापस ले लिया है। दावा किया है कि इस योजना में जो पैसा स्टेट को देना था वो नहीं मिला।

पिछले साल ये योजना वापस ली गई थी, तब CM भूपेश बघेल ने कहा था कि हम लगातार कहते रहे कि भारत सरकार ने हमें सेंट्रल एक्साइज का हिस्सा नहीं दिया, जो कि 22 हजार करोड़ के आस पास है। कोयला में जो पैानाल्टी 4 हजार 140 करोड़ थी वो नहीं दे रहे हैं। दूसरी तरफ आरोप लगाते हैं कि हम पैसा नहीं दे रहे और फिर प्रधानमंत्री के नाम से योजना है तो 60- 40 का रेश्यो क्यों है, 90- 10 का होना चाहिए, 100 परसेंट का होना चाहिए। एक तो पहले इंदिरा आवास था, नाम बदलकर PM आवास कर लिए। हमें राशि दे केंद्र, राशि होगी तो हम देंगे, गरीबों का मकान बनाएंगे।

विधायक दल की बैठक भी
प्रदेश कार्यालय में मंगलवार को विधायक दल की बैठक भी हुई। डॉ. रमन सिंह, बृजमोहन अग्रवाल, नेता प्रतिपक्ष नारायण चंदेल समेत अन्य विधायक इस बैठक में शामिल थे। 1 दिसंबर को विधानसभा का विशेष सत्र होने जा रहा है। भाजपा इसे लेकर रणनीति बना रही है। कांग्रेस इस विशेष सत्र में आरक्षण को लेकर संशोधन विधेयक लाने की तैयारी में हैं। 5 दिसंबर को भानुप्रतापुर जैसे आदिवासी इलाकों में वोटिंग भी होनी है।

मोहन मरकाम को घेरने की तैयारी, थाने में शिकायत
भानुप्रतापपुर उपचुनाव में भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी ब्रह्मानंद नेताम पर कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम ने यौन शोषण के आरोप लगाए थे। अब भाजपा ने कांकेर जिले के सभी थानों कांकेर, भानुप्रतापपुर,चारामा, कोरर,दुर्गकोन्दुल, हल्बा, हारादुला मंडल के नेताओं, कार्यकर्ताओं एवं पदाधिकारियों के जरिए मोहन मरकाम की शिकायत की है। शिकायत में कहा गया है कि प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने पीड़िता बच्ची की सरेआम पहचान उजागर की है जो पॉक्सो एक्ट की धारा 23 (2) के तहत अपराध है।

सोर्स :- “दैनिक भास्कर”                      

Share More

Leave a Reply

Your email address will not be published.