• September 30, 2022 5:56 am

हिमाचल में पहले दिन युवाओं में दिखा जोश, 19810 ने लगवाई वैक्सीन

ByPrompt Times

May 18, 2021
Share More

हिमाचल प्रदेश l 18-मई-2021 l हिमाचल प्रदेश में 18 से 44 साल वालों को कोरोना वैक्सीन लगाने के पहले दिन युवाओं में खूब जोश दिखा। सोमवार को 19810 लोगों को वैक्सीन लगाई गई जबकि 21090 को टीका लगाने का लक्ष्य रखा गया था। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने राजधानी शिमला के उपनगर कसुम्पटी स्थित सरकारी स्कूल में इस अभियान का शुभारंभ किया। टीकाकरण के लिए प्रदेश में 213 केंद्र स्थापित किए गए हैं। अब तक 21,090 लोगों ने अपनी सारिणी बुक करवा दी है। इस आयु के लोगों के लिए टीकाकरण की अगली तिथि 20 मई निर्धारित की गई है। 18 मई को कोविन पोर्टल सत्र की जानकारी उपलब्ध करवाई जाएगी। टीकाकरण के अन्य सत्र 24, 27 और 31 मई को आयोजित किए जाएंगे। सीएम ने लोगों से स्वयं का पंजीकरण करवाकर अपनी अप्वांइटमेंट बुक करने का आग्रह किया है। उन्होंने लोगों से टीकाकरण केंद्रों में अनावश्यक भीड़ से बचने की अपील भी की है।

सीएम ने पूछा – कोविड तो नहीं हुआ, महिला के न कहते ही बोले, अब होगा भी नहीं
सीएम सोमवार सुबह 10:30 बजे वैक्सीनेशन केंद्र पर पहुंचे। उन्होंने यहां रखे वैक्सीन के डिब्बे से लाल रिबन को खोला। इसके बाद कसुम्पटी की शैलेजा ठाकुर को पहला टीका लगाया गया। टीका लगते ही सभी लोगों ने तालियां बजाईं। सीएम ने इस दौरान एक महिला से मजाकिया लहजे में पूछा कि कोविड तो नहीं हुआ है। महिला ने कहा नहीं। इस पर सीएम ने कहा कि अब होगा भी नहीं। एक घंटे के भीतर इस केंद्र में 37 लोगों को वैक्सीन लगाई है। वहीं, पहला टीका लगवाने वाली शैलेजा ठाकुर ने बताया कि सभी लोगों को वैक्सीन लगवानी चाहिए। वह गुड़गांव में नौकरी करती हैं लेकिन इन दिनों वर्क फ्रॉम होम पर हैं। लिहाजा, जैसे ही वैक्सीनेशन को लेकर स्लॉट मिला तो बुक करवा कर वह टीकाकरण करवाने के लिए यहां पहुंच र्गइं।

राज्य में 386 कोल्ड चेन प्वाइंट
सीएम ने कहा कि हिमाचल प्रदेश 31 प्रतिशत जनसंख्या का टीकाकरण कर देश के अग्रणी राज्य के रूप में उभरा है। प्रदेश में अब तक लोगों को वैक्सीन की 21,50,353 खुराकें दी जा चुकी हैं। सीएम ने कहा कि राज्य वैक्सीन भंडार-1 और क्षेत्रीय वैक्सीन भंडार-2 सहित राज्य में 386 कोल्ड चेन प्वाइंट स्थापित किए गए हैं, जिनके माध्यम से इन टीकों का वितरण किया जा रहा है।

पीएम मोदी अधिकारियों से करेंगे बातचीत
हिमाचल प्रदेश में कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के प्रयासों के बीच मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हिमाचल प्रदेश के राज्य व जिला के अधिकारियों से चर्चा करेंगे। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से होने वाली इस बैठक में मुख्य सचिव, स्वास्थ्य सचिव के अलावा जिलों के अधिकारी भी मौजूद रहेंगे। मुख्यमंत्री इस दौरान प्रदेश की स्थिति से प्रधानमंत्री को अवगत कराएंगे।

10 बजे के स्लॉट वाले खड़े रखे, बाद में आने वालों को लगाए टीके उधर, कन्या स्कूल चंबा में 18 से 44 वर्ष की आयु वाले लोगों के लिए वैक्सीन लगाने के लिए केंद्र बनाया गया था। इस दौरान वैक्सीन लगवाने के लिए लोगों और स्टाफ के बीच गहमागहमी हो गई। लोगों का आरोप था कि अव्यवस्था सुबह दस बजे के स्लॉट के लोगों को 11 बजे तक टीका नहीं लगा, जबकि 11 बजे के स्लॉट वालों को साढ़े 10 बजे ही वैक्सीन लगा दी गई। इससे कतार में खड़े लोग भड़क गए और केंद्र में तैनात स्वास्थ्य विभाग के स्टाफ के साथ गहमागहमी हो गई। पुलिस कर्मचारियों के समझाने पर भी लोग मानने को तैयार नहीं थे। पुलिस और टीकाकरण करवाने पहुंचे लोगों के बीच भी बहस हो गई। गुस्साए लोगों ने अव्यवस्था को लेकर एसडीएम चंबा से शिकायत कर दी।

उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी से मौके पर जाकर स्थिति संभालने के लिए कहा। जिला कार्यक्रम अधिकारी डॉ. करण हितैषी ने केंद्र में जाकर लोगों की समस्या सुनी। लोगों ने उन्हें बताया कि जो लोग दस बजे से लाइनों में खड़े हैं, उन्हें 11 बजे तक टीका नहीं लगाया गया, जबकि 11 बजे के स्लॉट वाले लोगों को साढ़े दस बजे ही टीका लगा दिया गया। जिनकी बारी बाद में थी, उन्हें पहले टीका लगाया गया। स्टाफ ने निजी संबंधों को टीकाकरण के दौरान तवज्जो दी। आरोप लगाया कि स्टाफ की जान पहचान वाला जो भी व्यक्ति आया, उसे तुरंत टीका लगाया गया। अन्य लोग सुबह से लाइनों में खड़े होकर परेशान होते रहे। उधर, जिला कार्यक्रम अधिकारी डॉ. करण हितैषी ने बताया कि मैनुअल लिस्ट न होने से स्टाफ को टीकाकरण करने में परेशानी हुई। उन्होंने स्टाफ को आदेश दिए कि जो लोग केंद्र में जिस समय आ रहे हैं, उन्हें उसी समय अनुसार टीका लगाया जाए।

कोरोना कर्फ्यू में फंसे दिल्ली, लुधियाना, चंडीगढ़ के लोग भी पहुंचे टीका लगवाने हिमाचल प्रदेश में 18 वर्ष से 44 वर्ष की आयु के लोगों की वैक्सीनेशन सोमवार से शुरू होने का फायदा कोरोना कर्फ्यू में फंसे बाहरी राज्यों के लोगों ने भी उठाना चाहा, लेकिन रजिस्ट्रेशन पर्ची पर सेंटर का नाम गलत होने से टीका नहीं लगा पाए। इसके बाद ये सोलन के धर्मपुर में बने वैक्सीनेशन सेंटर पर पहुंचे, जहां इन्होंने अन्य जानकारी ली। ये लोग दिल्ली, लुधियाना, चंडीगढ़ और अन्य स्थानों से हैं। कोरोना कर्फ्यू के बीच यहीं फंसे हैं।

जिले के अन्य जगह भी लोग जहां भी खाली स्लॉट मिला, वहां वैक्सीन लगवाने के लिए पहुंचे। सोमवार को सुबह 10 बजे वैक्सीनेशन शुरू हुई। वैक्सीनेशन के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र धर्मपुर में भी काफी भीड़ रही। भीड़ को देखते हुए पुलिस की सहायता ली गई और बारी-बारी से सबको टीका लगाया गया। उधर, 45 वर्ष की अधिक आयु वाले लोग भी वैक्सीन लगवाने के लिए धर्मपुर सेंटर पहुंचे, लेकिन जैसे ही उन्हें सोमवार व वीरवार को 45 वर्ष से अधिक आयु के लोगों के टीकाकरण नहीं होने की बात पता चली तो वे लौट गए।

Source : “अमर उजाला”


Share More

Leave a Reply

Your email address will not be published.