• September 30, 2022 4:53 am

जंगली सुअर का शिकार, छः आरोपी गिरफ्तार

ByPrompt Times

Jul 30, 2020
जंगली सुअर का शिकार, छः आरोपी गिरफ्तार
Share More

कसडोल |   अर्जुनी वन परिक्षेत्र के वन कर्मचारियो ने जंगली सुअर का शिकार करने वाले छः लोगां को गिरफ्तार किया गया है। उनके विरूद्ध वन्यप्राणी संरंक्षण अधिनियम 1972 के तहत कार्यवाही की गई है। आरोपीयो को पकड़ने मे परिक्षेत्र अधिकारी एवं मैदानी कर्मचारियो की भूमिका रही।      वन मंडलाधिकारी आलोक तिवारी एवं उप वंन मंडलाधिकारी यू.एस.ठाकुर के निर्देशन में कसडोल उप वन मंडल क्षेत्र के अंतर्गत पदस्थ सभी वन परिक्षेत्र के मैदानी अमला अपने-अपने पदस्थ स्थानो में सघन गस्त कर रहे है। इसी क्रम में 25 जुलाई के शायं के समय वन विभाग का अमला रूटीन चेकिंग अभियान ग्राम खोसड़ा के पास चला रहे थे। इसी दौरान जंगल की ओर से दो मोटर सायकल मे छः लोग सवार थे, वन विभाग के कर्मचारियो ने उनकी मोटरसायकल रोकने का प्रयास किया तो वे लोग और तेज गति से भागने लगे तो वन कर्मचारियो को संदेह हुआ और मोटरसायकल का पिछा किया।  इस दौरान उनमें से एक व्यक्ति मेलाराम पिता बेदराम बरिहा जो कि खोसड़़ा का रहने वाला था अपने गांव के पास उतर गया जिसे वनकर्मचारियो ने पकड़ लिया। पकड़े गये व्यक्ति के पास से जंगली सुअर का मांस बरामद हुआ आरोपी ने पुछ-ताछ में ग्राम बरेली निवासी पांच अन्य लोगो के साथ कक्ष क्रमांक 362 महकोनी के जंगल में जंगली सुअर का शिकार करना स्वीकार किया। पकड़े गये आरोपी के निशानदेही पर ग्राम बरेली के  1 .मोहित कुमार पिता मोहनलाल पटेल उम्र -27 वर्ष 2 रोहित कुमार पिता रामकुमार पटेल उम्र 27 वर्ष  3 रामकृष्ण पिता छोटकुराम उम्र 34 वर्ष 4 गोविंदा पिता बहरताराम साहू उम्र 30 वर्ष और सोनाराम पिता पुनूराम उम्र 33 वर्ष को गिरफ्तार कर पुछ-ताछ की गई सभी आरोपियो की निशानदेही पर घटना स्थल से जंगली सुअर को जहा पर काटा गया था, वहा से उसके अवशेष बरामद किये गये। पकड़े गये सभी आरोपियो के विरूद्ध वन्य प्राणी  संरंक्षण अधिनियम 1972 के तहत कार्यवाही की जा रही है। आरोपियो को पकड़ने में वन परिक्षेत्र अधिकारी टी.आर.वर्मा, रामकुमार विश्वकर्मा, वनरक्षक तृप्ति जायसवाल ,सुशील पैकरा,चन्द्रभुवन मनहरे , नरोत्तम पैकरा, राजेश्वर वर्मा  एवं सुरक्षा श्रमिकों की सराहनीय भूमिका रही।

अशोक कुमार टंडन


Share More

Leave a Reply

Your email address will not be published.