देसहा यादव समाज की बैठक 24 जनवरी को रायपुरा में
अन्य

देसहा यादव समाज की बैठक 24 जनवरी को रायपुरा में

छत्तीसगढ़ देसहा यादव समाजप्रेस विज्ञप्ति देसहा यादव समाज की बैठक 24 जनवरी को रायपुरा में  रायपुर/22 जनवरी 2021। देसहा यादव समाज के प्रवक्ता एवं मीडिया प्रभारी रामजी यादव ने प्रेस विज्ञप्ति जारी करते हुये बताया कि छत्तीसगढ़ देसहा यादव समाज के अध्यक्ष शोभाराम यादव की विशेष उपस्थिति में छत्तीसगढ़ देसहा यादव समाज की बैठक दिनांक 24 जनवरी 2021 […]

कबीर पंथी साहू समाज प्रेस विज्ञप्ति 23 और 24 जनवरी को दो दिवसीय प्रदेश स्तरीय वार्षिक सम्मेलन 25 जनवरी से दो दिवसीय तुलसी (बाराडेरा) में संत समागम कार्यक्रम रायपुर/21 जनवरी 2021। छत्तीसगढ़ कबीर पंथी साहू समाज के तत्वाधान में ग्राम सेमरिया विधानसभा मार्ग में दो दिवसीय 23 और 24 जनवरी को प्रदेश स्तरीय वार्षिक सम्मेलन का आयोजन किया जा रहा है। कबीर पंथी साहू समाज के मीडिया प्रभारी चुन्नीलाल हिरवानी ने बताया कि शनिवार 23 जनवरी को विशाल शोभायात्रा, दीप प्रज्वलित, आरती पूजा कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया जाएगा। इसके बाद नवीन छात्रावास, भवन लोकार्पण, परिणय पुष्प अनावरण, सामाजिक परिचर्चा, विचार गोष्ठी, सामाजिक कुरीतियों पर विचार, शोध व सुझाव, महिलाओं के विकास पर विस्तार से चर्चा कार्यक्रम होंगे। 24 जनवरी रविवार को अतिथि एवं पदाधिकारियों का स्वागत सम्मान समारोह समाज के वरिष्ठ सदस्यों का सम्मान, मेधावी छात्र-छात्राओं को प्रशस्ति पत्र भेंट कर, युवक-युवती का पंजीयन तथा परिचय सम्मेलन का भव्य शुभारंभ शाम 6 से ‘‘सात्विक यज्ञ चौका आरती’’ आचार्य श्री परम पूज्य ज्योति स्वामी जी कोरबा के सानिध्य में संपन्न होगा। तत्पश्चात को गुरूप्रसाद वितरण व भोग भंडारा का कार्यक्रम आयोजित किया गया है। समस्त धर्म प्रेमी, हंसजनों को सहपरिवार पधारने का न्योता आमंत्रित किया गया है। 25 जनवरी से दो दिवसीय तुलसी (बाराडेरा) में संत समागम कार्यक्रम सद्गुरु कबीर आश्रम बाराडेरा तुलसी में दो दिवसीय संत समागम व प्रवचन का कार्यक्रम होगा। समिति के सदस्य एवं मीडिया प्रभारी चुन्नीलाल हिरवानी ने बताया कि कार्यक्रम की शुरुआत आचार्य परम पूज्य श्री ज्योति स्वामी जी कोरबा द्वारा दीप प्रज्वलित कर किया जाएगा। इसके अलावा ध्वजारोहण, शोभायात्रा सुबह 11 बजे से दोपहर 2 बजे तक, भजन सत्संग शाम 5 बजे से रात्रि 8 बजे तक, विभिन्न प्रांतों से आए हुए संतो का भी सत्संग व भजन कीर्तन होगा। 26 जनवरी सुबह 10 बजे से दोपहर 1 बजे तक सात्विक यज्ञ (चौका) गुरू पूजन, गुरु प्रसाद वितरण, भोग भंडारा का आयोजन किया गया है। समस्त धर्म प्रेमी अनुयाई से निवेदन है सपरिवार पधार कर आनंद लाभ लेकर मानव जीवन को सफल बनावे। चुन्नीलाल हिरवानी मीडिया प्रभारी कबीर पंथी साहू समाज
अन्य

23 और 24 जनवरी को दो दिवसीय प्रदेश स्तरीय वार्षिक सम्मेलन

कबीर पंथी साहू समाज प्रेस विज्ञप्ति 23 और 24 जनवरी को दो दिवसीय प्रदेश स्तरीय वार्षिक सम्मेलन25 जनवरी से दो दिवसीय तुलसी (बाराडेरा) में संत समागम कार्यक्रम रायपुर/21 जनवरी 2021। छत्तीसगढ़ कबीर पंथी साहू समाज के तत्वाधान में ग्राम सेमरिया विधानसभा मार्ग में दो दिवसीय 23 और 24 जनवरी को प्रदेश स्तरीय वार्षिक सम्मेलन का आयोजन […]

चखना चाहते हैं राजस्थानी विरासत और परंपरा का स्वाद, जरूर देखने जाएं ये 5 मशहूर मेले राजस्थान एक ऐसा राज्य है जिसकी समृद्ध विरासत और परंपराओं का स्वाद चखने के लिए यहां आयोजित होने वाले मेलों का हिस्सा बनना चाहिए। इन मेलों में से अधिकांश में रंग-बिरंगे स्टॉल, सुरुचिपूर्ण कलाकृतियां, लुभाने और मुंह में पानी लाने वाले व्यंजन, पारंपरिक राजस्थानी पोशाक, लोक गीत, लोक नृत्य और विभिन्न रोचक प्रतियोगिताएं देखी जा सकती हैं। पूरे साल राजस्थान इन अद्भुत मेलों और समारोहों के रंगों की चमक से भरा रहता है। इन मेलों ने राजस्थान के लोकगीतों में एक नई जान फूंक दी है और राज्य के देहाती आकर्षण को प्रदर्शित करता है। जब तक आप राजस्थान में एक या दो मेले नहीं देख लेते यहां के रंग से अंजान बने रहेंगे। यदि आप सोच रहे हैं कि राजस्थान के मेलों के लिए सबसे अच्छी लिस्ट कहां मिलेगी, तो चिंता ना करें क्योंकि हमने आपके लिए कुछ नाम चुने हैं। बेणेश्वर मेला: जयपुर के सबसे यादगार मेलों में से एक बेनेश्वर मेला है डूंगरपुर में शिवरात्रि के समय जनवरी और फरवरी के महीने में आयोजित किया जाता है। यह आदिवासी उत्सव माही और सोम नदियों के तट पर आयोजित किया जाता है और गीत और पूजा, लोक गीत, जादू और पशु शो की भीड़ इसमें देखने को मिलती है। नागौर मेला हर साल जनवरी और फरवरी में मनाया जाता है और यहां किसान समुदाय अपने मवेशियों को खरीदने और बेचने के लिए आते हैं। गोगाजी का मेला: प्रसिद्ध जयपुर मेलों में से एक गोगाजी मेला भी है जो गंगानगर जिले के गोगा मेड़ी में आयोजित किया जाता है। यह आमतौर पर अगस्त के महीने में आयोजित किया जाता है। इस मेले के दौरान, सांप भगवान की पूजा की जाती है और कई भक्त गोगा मेड़ी में समाधि पर श्रद्धांजलि देने के लिए इकट्ठा होते हैं। इस क्षेत्र के लोग मानते हैं कि ऐसा करने से सांप के काटने और अन्य बीमारियों से वह ठीक हो सकते हैं। रामदेवरा मेला: एक अन्य महत्वपूर्ण मेला जैसलमेर में रामदेवरा मेला है। इस छोटे से गांव का नाम बाबा रामदेवरा है। कई श्रद्धालु इस मेले में शामिल होते हैं और उन्हें 'भजन' और 'कीर्तन' के साथ श्रद्धांजलि देते हैं। मारवाड़ महोत्सव: मारवाड़ महोत्सव अक्टूबर के महीने में आयोजित किया जाता है, यह जोधपुर में होने वाला एक महत्वपूर्ण कार्यक्रम है, जो आपको इस क्षेत्र की कला और संस्कृति के शानदार प्रदर्शन से जोड़ता है। इस त्योहार के दौरान, लोक नर्तक लड़ाई के दृश्यों को प्रदर्शित करते हैं और उन समय के योद्धाओं के बहादुर कृत्यों की मिसाल भी यहीं देखने को मिलती है। ऊंट टैटू शो और पोलो मैच भी उत्सव का अहम हिस्सा हैं जो इसकी भव्यता बढ़ाने का काम करते हैं। उम्मेद भवन पैलेस उत्सव के दौरान जीवंत हो उठता है। कैला देवी मेला: कैला देवी मेला राजस्थान के कैला गांव में अप्रैल और मार्च के महीनों के दौरान आयोजित किया जाता है, यह लगभग एक पखवाड़े के लिए मनाया जाता है। यह मेला कैला गांव में कालीसिल नदी के तट पर आयोजित किया जाता है। आप यहां पूरे साल भक्तों का आना जाना देख सकते हैं, जो देवी के मंदिर में श्रद्धांजलि देने के लिए यहां एकत्र होते हैं।
अन्य

चखना चाहते हैं राजस्थानी विरासत और परंपरा का स्वाद जरूर देखने जाएं ये 5 मशहूर मेले

राजस्थान एक ऐसा राज्य है जिसकी समृद्ध विरासत और परंपराओं का स्वाद चखने के लिए यहां आयोजित होने वाले मेलों का हिस्सा बनना चाहिए। इन मेलों में से अधिकांश में रंग-बिरंगे स्टॉल, सुरुचिपूर्ण कलाकृतियां, लुभाने और मुंह में पानी लाने वाले व्यंजन, पारंपरिक राजस्थानी पोशाक, लोक गीत, लोक नृत्य और विभिन्न रोचक प्रतियोगिताएं देखी जा […]

मंदी के दौर में आख़िर चीन कैसे कर रहा है ग्रोथ
अन्य

मंदी के दौर में आख़िर चीन कैसे कर रहा है ग्रोथ

अपनी गतिविधियों, फ़ैसलों और तौर-तरीक़ों से चीन हमेशा से दुनिया को चौंकाता आया है. सैन्य ताक़त में असाधारण बढ़ोतरी से लेकर ख़ुद को एक संपन्न देश बनाने और दुनिया का मैन्युफ़ैक्चरिंग हब बनने तक का सफ़र चीन ने रॉकेट की रफ्तार से तय किया है. 1979 में अर्थव्यवस्था को विदेशी निवेश के लिए खोलने और […]

भारत में Dragon Fruit बना कमलम जानिए विश्व के सबसे ताकतवर फल के फायदे और नुकसान
अन्य

भारत में Dragon Fruit बना कमलम जानिए विश्व के सबसे ताकतवर फल के फायदे और नुकसान

फलों के लाभ के बारे में हर कोई जानता है. सभी फलों के अपने कुछ खास गुण होते हैं, जो हमारे शरीर को पोषक तत्व देते हैं. कुछ फलों के बारे में ज्यादा लोग नहीं जानते हैं. आज यहां हम जिस फल की बात कर रहे हैं, उसके बारे में भी कम ही लोग जानते […]

कबाड़ के स्कूटर से बना दिया खेतों को जोतने वाला हल
अन्य

कबाड़ के स्कूटर से बना दिया खेतों को जोतने वाला हल

हिमाचल प्रदेश के मंडी जिले में भंगरोटू के साठ वर्षीय सेवानिवृत्त यांत्रिकी अभियंता ने कबाड़ स्कूटर के इंजन से अनूठा उपकरण तैयार किया है, जो खेतों को जोत सकेगा। वहीं नालियां बनाने के अलावा, कीचन गार्डन और सिंचाई के लिए भी प्रयोग में लाया जा सकेगा। इस अविष्कार को कल्टीवेटर का नाम दिया गया है। […]

गौरव गिरी अभिनीत फिल्म- दुलार का पोस्टर लॉन्च
अन्य

गौरव गिरी अभिनीत फिल्म- दुलार का पोस्टर लॉन्च

गौरव गिरी अभिनीत टेलीफिल्म दुलार का पोस्टर हाल ही में लांच किया गया।  यह फिल्म पहले कहानी को लेकर चर्चा में थी परन्तु अब कहानी के साथ -साथ फिल्म के पोस्टर डिज़ाइन की भी प्रसंशा हो रही है। शुरू से ही सन्देशप्रद कहानी को प्राथमिकता देने वाले अभिनेता गौरव गिरी की यह फिल्म भी सामाजिक […]

गरीबी की घर में पले व बढ़े तीन बच्चों की संघर्ष भरी जीवन की कहानी लाचार बच्चों के हौसलों की उड़ान को पंख दे सकती है पढ़े ये पूरी खबर
अन्य

गरीबी की घर में पले व बढ़े तीन बच्चों की संघर्ष भरी जीवन की कहानी लाचार बच्चों के हौसलों की उड़ान को पंख दे सकती है पढ़े ये पूरी खबर

गरीबी की घर में पले व बढ़े तीन बच्चों की संघर्ष भरी जीवन की कहानी लाचार बच्चों के हौसलों की उड़ान को पंख दे सकती है। तीनों बच्चे नक्सल क्षेत्र के लिए बदनाम देव प्रखंड के हैं, जो आइआइटी में दाखिला लेकर अपनी जीवन को संवार रहे हैं। छोटा-सा जेनरल स्टोर की दुकान चलाते हैं […]

आम चखने के साथ ही लेना है घूमने-फिरने का भी मजा तो...
अन्य

आम चखने के साथ ही लेना है घूमने-फिरने का भी मजा तो

आम चखने के साथ ही लेना है घूमने-फिरने का भी मजा, तो… मौसम में घूमने के साथ ही तरह-तरह के आमों का भी स्वाद मिल जाए तो कहना ही क्या। कहने का मतलब है कि जहां लोग गर्मियों से बचने के लिए पहाड़ों का रूख करते हैं वहीं आप कुछ अलग एडवेंचर ट्राय करें। आम […]

शालू जिन्दल 10 प्रभावशाली लीडर्स में शालू जिन्दल भी
अन्य

शालू जिन्दल 10 प्रभावशाली लीडर्स में शालू जिन्दल भी

कोविड-19 से लोगों को बचाने के किए कार्य :  इम्पैक्ट लीडर अवार्ड से सम्मानित रायपुर/रायगढ़, 18 जनवरी 2021/ जेएसपीएल फाउंडेशन की चेयरपर्सन श्रीमती शालू जिन्दल को भारत-सीएसआर नेटवर्क द्वारा आयोजित ‘इंडिया सीएसआर लीडरशिप समिट – 2021’ में इम्पैक्ट लीडर अवार्ड से सम्मानित किया गया है। वह देश की उन 10 शीर्ष लीडर्स में शुमार की गई हैं, जिन्होंने […]