• September 30, 2022 5:12 am

दिल्ली में 12 हजार से कम ​एक्टिव मामले, रिकवरी रेट 87.95%

ByPrompt Times

Jul 28, 2020
दिल्ली में 12 हजार से कम ​एक्टिव मामले, रिकवरी रेट 87.95%
Share More

राजधानी में कोरोना (Coronavirus) के एक्टिव मरीजों (Active Cases) की संख्या लगातार घट रही है. कोरोना संक्रमित मरीज ठीक हो रहे हैं और रिकवरी रेट (Recovery Rate) 87.95 फीसदी तक पहुंचा है. दिल्ली में कोरोना के 11,904 एक्टिव केस हैं. ये आंकड़ा कुल संख्या का 9.11 फीसदी है.

दिल्ली में 24 घंटे में 1075 मामले सामने आए है और इसके साथ कुल  मामलों की संख्या 1,30,606 तक पहुंच गई है.

पिछले 24 घंटे में 21 मरीजों की मौत हुई और कुल मौत का आंकड़ा 3827 तक पहुंच गया है.

पिछले 24 घंटे में 1807 लोग ठीक हुए और अब तक कुल 1,14,875 लोग ठीक हो चुके हैं.

दिल्ली में कोरोना वायरस से डेथ रेट 2.93 फीसदी है.

​फिलहाल दिल्ली में 714 कंटेनमेंट जोन हैं.  होम आइसोलेशन में अभी 6976 मरीज हैं. पिछले 24 घंटे में कुल 17,533 टेस्ट हुए हैं. इनमें 5032 RTPCR टेस्ट और 12,501 एंटीजेन टेस्ट हुए हैं. दिल्ली में अब तक कुल 9,46,777 टेस्ट हुए हैं.

कोरोना डेथ रेट 44 प्रतिशत घटी
जून की शुरुआत में जब दिल्ली में लाॅकडाउन खुला, तब मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से इस बात पर जोर देते हुए कहा था कि हमारी सबसे बड़ी प्राथमिकता कोविड -19 के कारण कम से कम मौतों को सुनिश्चित करना है. इस उद्देश्य के लिए कई तरह की विशेष पहल की गई और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने व्यक्तिगत रूप से स्वयं इसकी निगरानी की. जून और जुलाई के बीच कोविड के कारण मौतों में भारी गिरावट दर्ज की गई.

स्वास्थ्य विभाग ने दिल्ली में कोविड-19 के कारण हुई मौतों का विस्तार से विश्लेषण किया, जिसमें पाया गया कि 1 से 12 जून और 1 से 12 जुलाई की अवधि के दौरान मौतों में 44 प्रतिशत की गिरावट आई है. 1 से 12 जून के दौरान 1089 मौतें हुई थीं, जबकि 1 से 12 जुलाई के बीच 605 मौतें हुईं.

विश्लेषण से पता चला कि दिल्ली सरकार के कोविड अस्पतालों में जून से जुलाई तक मौतों में 58 प्रतिशत की कमी देखी गई, जो जून में 361 और जुलाई में 154 थी. वहीं, सरकारी अस्पतालों की तुलना में निजी कोविड अस्पतालों में जून से जुलाई तक 25 प्रतिशत की कमी देखी गई और केंद्र सरकार के कोविड अस्पतालों में 55 प्रतिशत की कमी देखी गई.  विश्लेषण करने से पता चला कि केंद्र सरकार के आरएमएल अस्पताल में मृत्यु दर (कुल भर्ती बनाम कुल मौतें) का प्रतिशत जून में 81 प्रतिशत थी, जो जुलाई में घट कर 58 प्रतिशत हो गई. केंद्र सरकार के एक अन्य सफदरजंग अस्पताल में जून में मृत्यु दर 40 प्रतिशत से घट कर जुलाई में 31 प्रतिशत हो गई. दिल्ली सरकार के सबसे बड़े कोविड अस्पताल एलएनजेपी में मौतें जून की शुरुआत में 28 प्रतिशत थीं, जो जुलाई की शुरुआत में घट कर 16 प्रतिशत हो गईं.

















ZEE


Share More

Leave a Reply

Your email address will not be published.