• November 30, 2022 3:15 am

ओरमांझी में कलश स्थापना के साथ दुर्गा पूजा शुरू

Share More

27  सितम्बर 2022 | वेदे वांछितलाभाय चन्दार्धकृतशेखराम्। वृषारूढां शूलधरां शैलपुत्री यशस्विनीम्…मंत्रोच्चारण के साथ ओरमांझी, चुटुपालू, कुच्चू, विकास और बीआईटी में सोमवार को दुर्गा पूजा की शुरुआत हुई। पहले दिन मां शैलपुत्री की पूजा हुई। मां दुर्गा अपने पहले स्वरूप में शैलपुत्री के नाम से पूजी जाती हैं। इससे पहले सभी स्थानों पर पूजा के लिए कलश स्थापित किया गया।

श्रीश्री दुगा पूजा समिति कुकुई की ओर से कलश यात्रा निकाली गई। कलश यात्रा में कुकुई और आपपास की 151 महिलाएं शामिल हुईं। कलश यात्रा पूजा स्थल के समीप मंदिर परिसर से निकलकर चपराकोचा तालाब पहुंची जहां आचार्य प्रो शैलेंद्र मिश्र के द्वारा मंत्रोच्चार और आरती के उपरांत महिलाएं कलश में जल भरकर जयकारा लगाते हुए नगर भ्रमण करते हुए पूजा स्थल पर पहुंचीं। कलश स्थापित करने के साथ ही दुर्गा पूजा की शुरुआत हो गई।

मां भवानी की पूजा शुरू

ओरमांझी में दुर्गा पूजा लाल बहादुर शास्त्री क्लब दड़दाग, पूजा समिति ओरमांझी, सार्वजनिक पूजा समिति चुटुपालू, पूजा समिति कुच्चू, चकला, जयडीहा, पांचा, सिलदीरी, हुटुप के अलावा विकास, बीआईटी में भी कलश स्थापना के साथ मां भवानी की पूजा शुरू हुई। कुकुई में कलश यात्रा में सोनाराम महतो, हरिमोहन महतो, धृतलाल महतो, रामजीत, अर्जुन, मुकेश, महतो, तारा लाल महतो, मनीनाथ महतो और रामचरण महतो शामिल थे।

सोर्स:–” हिंदुस्तान” 


Share More

Leave a Reply

Your email address will not be published.