गरीबों के मसीहा बने गुजरात के तनुज पटेल, 400000 को कराया भोजन
गुजरात राज्य

गरीबों के मसीहा बने गुजरात के तनुज पटेल, 400000 को कराया भोजन

कोरोना काल में जहां एक ओर लोग अपने परिवार से ही दूर होते जा रहे हैं तो वहीं दूसरी ओर कुछ ऐसे लोग भी हैं, जो इस महामारी के दौर में लोगों की मदद करके उनके लिए मसीहा साबित हुए हैं। एक ऐसे ही व्यक्ति हैं तनुज पटेल, जो लॉकडाउन की परिस्थिति में भी दिन-रात भारत को स्वस्थ और सुरक्षित रखने के लिए लोगों को भोजन उपलब्ध करा रहे हैं। तनुज पटेल और उसकी टीम द्वारा अब तक चार लाख से ज्यादा जरूरतमंद परिवारों को भोजन की सेवा दी गई है।

अमेरिका से आए भारत, लेकिन वतन को छोड़ कर ना जा सके

गुजरात के आनंद के निवासी तनुज पटेल मल्टीस्पेश्यालिटी अस्पताल के उद्घाटल कार्य हेतु अमेरिका से भारत अपने मूल देश आए थे, लेकिन दुनियाभर में कोरोना वायर महामारी के चलते पूरे भारत में लॉकडाउन जैसी गंभीर स्थिति होने की वजह से उन्होंने अपने परिवार में वापस जाने के बजाए अपने वतन में ही रह कर जरूरतमंद लोगों की सेवा करने का फैसला किया।

मातृभूमि में ही रहकर लोगों की सेवा करने का किया फैसला

तनुज अपनी मातृभूमि में रहकर जरूरतमंद लोगों की सेवा कर मानवता के धर्म का पालन कर रहे थे। तनुज पटेल का कहना है इस तरह की मुश्किल स्थिति में मैं अपने देश के हर वर्ग के भाई बहनों को भूखा पेट नहीं सोने दूंगा और जब तक यह महामारी चलती रहेगी, तब तक मैं मानव सेवा में लगा रहूंगा।

लॉकडाउन के दौरान इस तरह की लोगों की मदद

लॉकडाउन के समय में तुनज पटेल और उनकी टीम के द्वारा चार लाख से ज्यादा जरूरतमंद लोगों को भोजन की सुविधा दी जा चुकी है। इसके अलावा तीस हजार से ज्यादा शाकभाजी और फ्रूट की किट भी उन्होंने जरूरतमंदों को दी है। साथ ही लॉकडाउन के दौरान गुजरात से अपने राज्य वापस लौट रहे 17 हजार से ज्यादा श्रमिक यात्री को गांव जाने की व्यवस्था व मुसाफरी के दौरान खाने-पीने का आयोजन किया था।

उन्होंने पांच लाख से ज्यादा कॉटन मास्क का वितरण किया है। उनकी टीम द्वारा आनंद में कोरोना केयर सेंटर में कोरोना ग्रस्त मरीज को सुबह और शाम का भोजन दिया जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *