Corona Vaccine मिलने के बाद यदि किसी को होता है साइड इफेक्‍ट तो क्‍या होगा?
राष्ट्रीय

Corona Vaccine मिलने के बाद यदि किसी को होता है साइड इफेक्‍ट तो क्‍या होगा?

महामारी के प्रकोप के बीच दुनियाभर को कोरोना वायरस वैक्सीन (Coronavirus vaccine) का इंतजार है. इस बीच भारत में कोरोना वैक्सीन आने की उम्मीद और बढ़ गई है. इसी हफ्ते ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) ने एक और वैक्सीन Gennova को भारत में क्लीनिकल ट्रायल की मंजूरी दी है. मौजूदा दौर में 6 वैक्सीन ट्रायल के दूसरे और तीसरे चरण में हैं, इन्हीं में से तीन को EUA यानी इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी का इंतजार है.

तीन स्वदेशी वैक्सीन
इस हफ्ते जिस Gennova Vaccine के क्लीनिकल ट्रायल की मंजूरी दी गई है वो MRNA तकनीक आधारित वैक्सीन होगी. इसे नॉर्मल टेंपरेचर पर रखा जा सकता है. DCGI की मंजूरी के बाद Gennova वैक्सीन ट्रायल शुरु कर सकती है. इससे पहले ही भारत बायोटेक (Bharat Biotech) और सीरम इंस्टीट्यूट (Serum Institute) की वैक्सीन भी इस्तेमाल के इंतजार में हैं. कुल मिलाकर अब तीन स्वदेशी वैक्सीन होंगी. हालांकि, ड्रग कंट्रोलर के पास जिन तीन वैक्सीन की मजूरी की रिक्वेस्ट पहुंची हुई हैं, उन पर अभी तक फैसला नहीं लिया गया है. तीनों कंपनियों से डाटा मांगा गया है. https://tpc.googlesyndication.com/safeframe/1-0-37/html/container.html

साइड इफेक्ट मॉनिटरिंग सिस्टम 
स्वास्थ्य, नीति आयोग के सदस्य डॉ वी के पॉल का कहना है कि अगर वैक्सीन का साइड इफेक्ट होता है तो उसे कैसे और कहां रिपोर्ट किया जाए ये भी तय कर लिया गया है. वैक्सीन कंपनी भी नई दवा या इंजेक्शन को मॉनिटर करती रहती है. कोरोना वैक्सीन (Coronavirus vaccine) के मामले में भी ऐसा ही होगा. इसके अलावा साइड इफेक्ट बताने के लिए ब्लॉक स्तर पर एडवर्स इफेक्ट मानिटरिंग सिस्टम बनाया जाएगा.

टीकाकरण के लिए बड़े स्तर पर तैयारी 
कोरोना वैक्सीन (Coronavirus Vaccine) टीकाकरण के लिए भारत सरकार ने बड़े स्तर पर तैयारी कर ली है. 23 मंत्रालय और विभाग मिलकर वैक्सीन लगवाने का काम पूरा करेंगे. टीकाकरण के दौरान 29000 कोल्ड चेन पॉइंट होंगे. 45,000 आइस लाइंड रेफ्रिजरेटर होंगे. इसके अलावा 300 सोलर रेफ्रिजरेटर होंगे. https://tpc.googlesyndication.com/safeframe/1-0-37/html/container.html

दिल्ली की तरीफ
वहीं स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोरोना के खिलाफ लड़ाई में राज्यों द्वारा उठाए गए कदमों की भी समीक्षा की. इसमें दिल्ली का काम संतुष्टिजनक पाया गया है. स्वास्थ्य मंत्रालय ने दिल्ली सरकार की कोरोना महामारी पर लगाम लगाने के किए गए प्रयासों की तारीफ की है लेकिन उत्तराखंड और नागालैंड के हालात पर चिंता जताई है.

















ZEE

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *