दिल्ली की वायु गुणवत्ता अब भी ‘बेहद खराब’ श्रेणी में, शनिवार तक यही स्थिति रहने की है आशंका
दिल्ली राज्य

दिल्ली की वायु गुणवत्ता अब भी ‘बेहद खराब’ श्रेणी में, शनिवार तक यही स्थिति रहने की है आशंका

  • आईएमडी के अधिकारियों के अनुसार, इस मौसम में न्यूनतम तापमान अधिकतर दिन भर बादल नहीं होने के कारण सामान्य से दो से तीन डिग्री कम ही रहा है.
  • केंद्र सरकार की दिल्ली के लिए वायु गुणवत्ता पूर्व चेतावनी प्रणाली ने बताया कि वायु गुणवत्ता के शनिवार तक ‘बेहद खराब’ श्रेणी में बने रहने की आशंका है.

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में लगातार प्रदूषण का स्तर खराब होता जा रहा है. यहां वायु गुणवत्ता कई दिनों से खराब श्रेणी में ही बनी हुई है. शुक्रवार को भी दिल्ली की वायु गुणवत्ता ‘बेहद खराब’ श्रेणी में दर्ज की गई और इसमें सुधार के भी अभी कोई संकेत नहीं हैं. एक्यूआई के बेहद खराब श्रेणी में होने के कारण दिल्लीवासी घर से बाहर निकलने से भी डर रहे हैं.
बता दें कि वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) सुबह नौ बजे 364 दर्ज किया गया. बृहस्पतिवार को शहर में 24 घंटे का औसत एक्यूआई 341 था.यह बुधवार को 373, मंगलवार को 367, सोमवार को 318 और रविवार को 268 था. गौरतलब है कि एक्यूआई शून्य से 50 के बीच ‘अच्छा’, 51 और 100 के बीच ‘संतोषजनक’, 101 और 200 के बीच ‘सामान्य’, 201 और 300 के बीच ‘खराब’, 301 और 400 के बीच ‘बेहद खराब’ और 401 से 500 के बीच ‘गंभीर’ श्रेणी में माना जाता है.

  • इस मौसम में तापमान सामान्य से दो से तीन डिग्री रहा कम

भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के अनुसार शुक्रवार को हवा की दिशा मुख्य रूप से पूर्व की ओर रहेगी और अधिकतम 10 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से हवा चलेगी. मौसम विभाग के मुताबिक शुक्रवार को न्यूनतम तापमान आठ डिग्री सेल्सियस रहा. वहीं अधिकतम तापमान के 27 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने की अनुमान है. आईएमडी के अधिकारियों के अनुसार, इस मौसम में न्यूनतम तापमान अधिकतर दिन भर बादल नहीं होने के कारण सामान्य से दो से तीन डिग्री कम ही रहा है. ठंडी हवाओं और कम तापमान के कारण प्रदूषक तत्व धरातल के निकट बने रहते हैं जबकि अनुकूल तेज हवाएं इन्हें छितरा कर अपने साथ उड़ा ले जाती हैं.

  • वायु गुणवत्ता शनिवार तक रहेगी ‘बेहद खराब श्रेणी में

वहीं केंद्र सरकार की दिल्ली के लिए वायु गुणवत्ता पूर्व चेतावनी प्रणाली ने बताया कि वायु गुणवत्ता के शनिवार तक ‘बेहद खराब’ श्रेणी में बने रहने की आशंका है. उसने पहले कहा था कि चार दिसंबर से सात दिसंबर के बीच इसके ‘गंभीर’ श्रेणी में पहुंचने का पूर्वानुमान है. शहर का ‘वेंटिलेशन इंडेक्स’ (वायु संचार सूचकांक) शुक्रवार को 1,000 वर्गमीटर प्रति सेकेंड रहने का अनुमान है. बता दें कि वायु संचार सूचकांक 6,000 वर्गमीटर प्रति सेकेंड से कम और वायु की औसत गति 10 किलोमीटर प्रति घंटे से कम रहने से प्रदूषक तत्वों के छितराव के लिए प्रतिकूल स्थितियां होती हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *