श्रीलंका पहुंचे IAF चीफ आरकेएस भदौरिया, वायुसेना के 70वें स्थापना दिवस के मौके पर रहेंगे मौजूद
अंतरराष्ट्रीय

श्रीलंका पहुंचे IAF चीफ आरकेएस भदौरिया, वायुसेना के 70वें स्थापना दिवस के मौके पर रहेंगे मौजूद

IAF Chief RKS Bhadauria Reached Sri Lanka: भारतीय वायुसेना (India Air Force) प्रमुख आरकेएस भदौरिया (RKS Bhadauria) कोलंबो पहुंच गए हैं. यहां वह श्रीलंका वायुसेना (Sri Lanka Air Force) के 70वें स्थापना दिवस के मौके पर पहुंचे हैं. इस दौरान वह कोलंबो के करीब आयोजित एयर-शो में भी उपस्थित रहेंगे. जिसमें भारतीय वायुसेना का विशेष सारंग हेलीकॉप्टर और सूर्यकिरण एयरक्राफ्ट एयरोबैटिक टीम और एलीसीए तेजस ने भी हिस्सा लिया है. इससे भारत और श्रीलंका (India Sri Lanka Relations) के सैन्य संबंधों में अधिक मजबूती आएगी.

भारतीय वायु सेना की एरोबेटिक टीम ने कोलंबो में शानदार एयर डिस्प्ले किया. तेजस, सारंग और सूर्यकिरण ने आसमान में अपने कर्तव्य से लोगों का मन मोह लिया. वहीं भारतीय वायु सेना की टीम ने भी कोलंबो में फ्लाई पास्ट किया है. सात मार्च तक आयोजित होने वाले इस एयर-शो (Sri Lanka Air Show) में स्वदेशी फाइटर जेट हिस्सा ले रहे हैं. दोनों देशों की वायु सेना (India Sri Lanka Air Force) कई साल तक एक दूसरे के साथ काम करती रही है, चाहे फिर प्रशिक्षण की बात करें या फिर ऑपरेशनल एक्सचेंज की.

श्रीलंका के अधिकारियों से करेंगे चर्चा

आरकेएस भदौरिया यहां श्रीलंका के अधिकारियों से मिलेंगे और दोनों वायु सेना के प्रशिक्षण, सहयोग और आपकी हितों पर चर्चा करेंगे. इस जश्न में शामिल होने के लिए श्रीलंकाई वायु सेना के कमांडर एयर मार्शल सुदर्शन पथिराना ने भारतीय टीम को न्योता दिया था. भारतीय टीम ने पहले भी श्रीलंका में फ्लाई पास्ट किया था. तब श्रीलंका की वायु सेना ने अपना 50वां स्थापना दिवस मनाया था. इससे कुछ दिन पहले भारत ने श्रीलंका को रक्षा क्षेत्र में ‘प्रथम प्राथमिकता’ वाला साझेदार बताया था. भारत ने कहा था कि पड़ोसी देश की वायुसेना (एसएलएएफ) के 70वें वर्षगांठ समारोह में उसके सैन्य विमानों की भागीदारी दोनों देशों की सेनाओं के बीच बढ़ते सहयोग, सौहार्द्र एवं मित्रता का परिचायक है.

प्रथम प्राथमिकता वाला साझेदार

इस ऐतहासिक मौके पर देश में पहली बार बड़े पैमाने पर फ्लाई पास्ट और एयरोबैटिक डिस्प्ले का आयोजन किया जा रहा है. कोलंबो में भारतीय उच्चायोग ने एक बयान में कहा था कि श्रीलंका रक्षा क्षेत्र में भारत के लिए प्रथम प्राथमिकता वाला साझेदार है. हाल ही में त्रिपक्षीय समुद्री सुरक्षा सहयोग वार्ता में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने श्रीलंका के नेतृत्व के समक्ष रक्षा एवं सुरक्षा के क्षेत्र में भारत के पूर्ण सहयोग का आश्वासन दोहराया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *